आयुष्मान योजना के तहत कैसे मिलेगा मरीजों को लाभ

आयुष्मानस्तयव्रत किरण

रांची : प्रधानमंत्री की महत्वकांक्षी योजना आयुष्मान भारत द्वारा रिम्स में कियोस्क डेस्क पर लोगों की भीड़ जुट रही है. लोगों का पंजीकरण कर गोल्ड कार्ड जनरेट किया जा रहा है. जिसमे कुछ बीमा लाभुकों को खुद प्रधानमंत्री अपने हांथो से बीमा का गोल्डन कार्ड देंगे. आयुष्मान योजना के तहत कैसे मिलेगा मरीजों को लाभ जानिये इस रिपोर्ट में.

राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्ताल रिम्स में बने कियोस्क में घंटों से महिला और पुरुष हांथो में राशन कार्ड और आधार लिए अपनी बारी का इंतेजार कर रहें है. प्रधानमंत्री के इस योजना का लाभ हर कोई उठाना चाहता है. बरियातू बस्ती की रहने वाली तब्बसुम का बेटा अब्दुल्लाह को जन्म से ही नेत्र हीनता की समस्या है. जन्म के समय डॉक्टरों ने कहा था कि 7 वर्ष के बाद उसका इलाज हो पायेगा. आर्थिक रूप से कमजोर तब्बसुम को अब्दुल्लाह के इलाज में होने वाले खर्च की बहुत चिंता थी, मगर अब आयुष्मान भारत बीमा से उसकी सभी चिंताएं खत्म हो गईं और वह बहुत खुश है कि उसके बेटा का इलाज बीमा से हो जाएगा और अब्ददुल्ला इस रंग भरी दुनिया को देख सकेगा. इसके लिए वह प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दे रही है. ऐसे कई लोग हैं जिनके लिए यह बीमा योजना वरदान के रूप में साबित हो सकती है.




वहीं रिम्स के उपाधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि योजना के लागू हो जाने के बाद किसी भी बीमा कर चुके मरीज को 5 लाख रुपये सलाना इलाज के लिए मिलेगा. वहीं इस योजना से कई और बड़े निजी अस्पताल भी सूचीबद्ध हो रहें हैं. वैसे में योजना के लाभुक किसी भी दूसरे बड़े अस्प्ताल में भी निशुल्क अपना इलाज करा सकेंगे आयुष्मान भारत योजना स्वास्थ के क्षेत्र का सबसे बड़ा बीमा साबित होने जा रहा है.

अगर किसी आर्थिक रूप से कमजोर लोग को बीमारी अपने गिरफ्त ले लेता है, तो उसे इलाज के लिए गहने से लेकर जमीन तक बेचना पड़ जाता है. मगर अब आयुष्मान भारत बीमा योजना के लागू हो जाने कर बाद शायद किसी का इलाज पैसे के अभाव में नहीं रुकेगा. इस योजना से झारखंड में कुल 57 लाख लोगों को फायदा मिलने वाला है.





WhatsApp chat Live Chat