दुमका : धर्म प्रचार करने पहुंची टीम को ग्रामीणों ने वाहन समेत बनाया बंधक

शिकारी पाड़ा थाना क्षेत्र के फूलपहाड़ी गांव में गुरुवार को धर्म प्रचार के लिए पहुंची थी टीम

क्रिश्चियन धर्म का कर रहा था प्रचार

आदिवासियों ने किया था कड़ा विरोध

hunter-gatherers propagandist hostage vehicleदुमका : शिकारी पाड़ा थाना क्षेत्र के फूलपहाड़ी के ग्रामीणों ने धर्म प्रचार करने वाले को वाहन समेत बंधक बना लिया. मौके पर पहुंचे पूलिस ने मामले को शांत कराया और प्रचारक समेत वाहन को थाने ले आए.

दरअसल, दुमका जिला के शिकारी पाड़ा थाना क्षेत्र के फूलपहाड़ी गांव में गुरुवार को देर शाम एक मिनी बस में  25 की संख्या में धर्म प्रचारक जिसमें 14 महिलाएं एवं 11 पुरुष शामिल हैं, इसाई धर्म का प्रचार करने एंव धर्म परिवर्तन के उद्देश्य से फूलपहाड़ी गांव पहुंचे. तभी गांव के ग्राम प्रधान रमेश मुर्मू एवं ग्रामीणों द्वारा विरोध करने पर धर्म प्रचारक लोगों ने कहा कि हमलोगों को ऊपर से आदेश मिला है कि किसी भी गांव में जाकर धर्म का प्रचार के साथ-साथ धर्म परिवर्तन करा सकते हैं.




बताया जा रहा है कि इन लोगों ने गांव में बैठकर माइक लगाकर इसाई धर्म का प्रचार करना शुरू कर दिया और बोल रहे थे कि गांव में जेहरथान एवं मांझीथान शैतान का घर है इसलिए इस धर्म को छोड़ दो और इसाई धर्म अपनाओ. सारी सुविधाएं दी जाएगी इस पर ग्रामिण भड़क गए और आक्रोशित होकर धर्म प्रचारक सहित मिनी वाहन को भी बंधक बना लिया. शिकारी पाड़ा पूलिस को सूचना मिलते ही घटना स्थल पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझा बुझा कर सभी धर्म प्रचारक और वाहन को शिकारी पाड़ा थाना ले आए. ग्राम प्रधान और ग्रामीणों ने शिकारी पाड़ा थाना में लिखित आवेदन देकर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है.

इस संबंध में पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी मनोज कुमार ने बताया कि ग्राम प्रधान और ग्रामीणों द्वारा लिखित आवेदन मिला है. वहीं दुमका एसपी ने पुष्टि की है कि शिकारी पाड़ा(दुमका) धर्म प्रचार के लिए पहुंचे इसाई धर्मावलम्बियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. उन्होंने बताया कि 18 के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.





WhatsApp chat Live Chat