अवैध मिनी शराब फैक्टरी का उद्भेदन, तीन गिरफ्तार, भारी मात्रा में शराब व बोतलें बरामद

अवैध शराब बरामदबोकारो : सिटी थाना क्षेत्र अन्तर्गत जोशी कॉलोनी के समीप लकड़ाखंदा स्थित सोमदत्त स्टाफ कॉलोनी में सोमवार को उत्पाद विभाग की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर औचक छापामारी कर अवैध मिनी शराब फैक्टरी का उद्भेदन किया. सहायक उत्पाद आयुक्त सुनील कुमार चौधरी के निर्देश पर मौके पर पहुंची टीम ने घटनास्थल से तीन लोगों को गिरफ्तार किया. छापामारी में भारी मात्रा में कई ब्रांडेड कंपनियों के अवैध नकली शराब, बोतलें, स्टीकर, लेबल आदि बरामद किया. गिरफ्तार लोगों में अभय सिंह, राजेश कुमार व सरयू सिंह के नाम शामिल है. सहायक उत्पाद आयुक्त के अनुसार घटनास्थल से 74 कार्टून अवैध विदेशी शराब के साथ-साथ 32 बोरी देशी शराब बरामद की गयी. प्रत्येक बोरे में सवा सौ से लेकर डेढ़ सौ पाउच शराब थी. इसके अलावा उच्च गुणवत्ता वाली लगभग 600 खाली बोतलें, कार्टून, कार्क, जाली होलोग्राम लेबल के साथ-साथ झारखंड सरकार के लेबल भी बरामद किये गये. साथ ही घटनास्थल से काले रंग की एक हुंडई गेट्ज कार (जेएच10 एन 8754) भी जब्त की गई.




इसे भी पढ़े : नशेड़ी पिता ने पार की क्रूरता की हद, पिटाई के बाद दो बच्चियों को दफ़नाने की कोशिश की

लाइन होटलों में करते थे सप्लाई

सहायक उत्पाद आयुक्त सुनील कुमार चौधरी ने पत्रकारों को बताया कि सोमदत्त कॉलोनी में जिस मिनी शराब फैक्टरी का भंडाफोड़ हुआ, वहां बनी शराबों को छोटे-छोटे लाइन होटलों और अवैध बिक्री वाले स्थानों पर बेचने का कार्य किया जाता था. श्री चौधरी ने कहा कि जो भी लोग गिरफ्तार किये गये हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित हो, इसकी तैयारी की जा रही है.

इसे भी पढ़े : फिर सामने आई बिहार बोर्ड की गड़बड़ी, गायब हुई इंटर की 213 कॉपियां

जानलेवा है अवैध शराब

सहायक उत्पाद आयुक्त ने जनता से अपील करते हुए कहा कि जो लोग शराब का सेवन करते हैं, वे केवल और केवल सरकार द्वारा अधिकृत दुकानों से ही शराब खरीदें. जहां-तहां लाइन होटलों या अवैध बिक्री वाले गैर अधिकृत स्थानों से शराब खरीदना उनके लिये जानलेवा साबित हो सकता है. उन्होंने कहा कि सोमदत्त कॉलोनी में इतने दिनों से अवैध शराब कारखाना चलने के मामले में अनुसंधान के बाद ही पता चल पायेगा की इस अवैध कारोबार से किसके-किसके तार जुड़े हैं.

इसे भी पढ़े : डॉन बनने की सनक में छोड़ी इंजीनियर की नौकरी, अब पहुंचा जेल





WhatsApp chat Live Chat