पश्चिम सिंहभूम में धड़ल्ले से चल रहा बालू का अवैध कारोबार, पुलिस प्रशासन बालू माफिया के सामने बनी बौनी

Illegal trade sand West Singhbhumपश्चिम सिंहभूम : रोक के बावजूद पश्चिम सिंहभूम में बालू का अवैध कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है. जिले में बालू माफिया सक्रिय हैं और पुलिस की शह पर बालू के अवैध खनन से लेकर ढुलाई हो रही है. मनोहरपुर के कोयल नदी से लेकर चाईबासा के कुजू नदी तक बालू माफिया कानून को ठेंगा दिखाकर बालू का अवैध कारोबार खुलेआम कर रहे हैं. एनजीटी यानि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने पहले ही मानसून में बालू कारोबार अवैध घोषित कर रखा है. लेकिन इसके बावजूद पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने का खेल चरम पर है.

इससे सरकार को लाखों-करोड़ों के राजस्व का भी नुक्सान हो रहा है. वहीं आम आदमी ऊंची कीमत पर बालू खरीदने को मजबूर हैं. लेकिन इसके बावजूद पुलिस प्रशासन इनपर कार्रवाई करना छोड़ आंखें मूंद बैठी है. सड़क पर पुलिस के द्वारा आये दिन हेलमेट चेकिंग जैसे अभियान तो चलते हैं लेकिन बालू की ढुलाई करते ट्रक और हाइवा को रोकने की हिम्मत तक खाकी जुटा नहीं पा रही है. लगातार जिले में बालू माफिया की शिकायत प्रशासन को मिल रही है लेकिन कार्रवाई आंखों को धुल झोंकनेभर तक की जा रही है.




रात हो या दिन, बड़े-बड़े जेसीबी मशीन से खुलेआम बालू का खनन हो रहा है. वहीं ट्रक, ट्रेक्टर और हाइवा से बालू की ढुलाई हो रही है. कई ईलाकों में तो बालू के अवैध भण्डारण भी देखने को मिले हैं. आम गरीब आदमी की पहुंच से बालू भले ही दूर हो गया हो लेकिन बड़े-बड़े कंस्ट्रक्शन प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए ठेकेदार पैसों के बल पर बालू का भण्डारण कर रही है. आनंदपुर और गोईलकेरा ईलाके में बालू के अवैध भण्डारण बड़ी आसानी से देखे जा सकते हैं. बताया जाता है की रेलवे की थर्ड लाइन प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए भी बालू का अवैध भण्डारण हो रहा है. अवैध बालू की ढुलाई करने वाली गाड़ियों पर भी कोई लगाम नहीं है, हाल ही में चाईबासा में एक शख्स को बालू की ढुलाई कर रहे ट्रेक्टर ने रौंद डाला था, लेकिन इसके बावजूद पुलिस की आंख नहीं खुली.

बेंगाबाद: 111 साल की पुजारिन का देहांत, उमड़ पड़ा जनसैलाब

हमने जब इसकी जानकारी डीसी अरवा राजकमल को दी तो उन्होंने माना की ईलाके में बालू माफिया सक्रीय रूप से बालू का अवैध कारोबार कर रही है, जिसकी शिकायत उन्हें आये दिन मिल रही है.

डीसी ने कहा की उन्होंने सम्बंधित विभाग को एक टीम बनाकर इसपर छापामरी करने का आदेश दिया है. साथ है बालू माफिया पर सख्त कानूनी कार्रवाई का भी निर्देश जारी किया है. उम्मीद की जानी चाहिए की जल्द ही बालू के अवैध कारोबार पर लगाम कसा जायेगा.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat