NEWS11

Breaking Crime Jharkhand Jharkhand Top Pakur

पीएम आवास योजना के लाभुकों के नाम पर बालू माफिया कटा रहे चालान, कर रहे बालू की अवैध तस्करी

अवैधलिट्टीपाड़ा (पाकुड़) : लिट्टीपाड़ा थाना क्षेत्र के धमनी नदी से बालू माफियाओं ने दिन दहाड़े बालू की अवैध तरीके से उठाव बदस्तूर जारी रखा है. माफियाओं ने अब नए हथकंडे अपनाये हैं. प्रधानमंत्री आवास निर्माण के लाभुकों के नाम पर एक चालान कटा कर बालू माफिया दिन हो या रात चौबीसों घंटे सैकड़ों ट्रैक्टर अवैध तरीके से बालू का उठाव कर रहे हैं. माफिया ये बालू प्रशासन के नाक के नीचे सीमावर्ती जिला साहेबगंज के पडेरबाथन भेज रहे हैं. इन ट्रैक्टरों की आवाजाही पर न तो पुलिस रोक लगा रही है और न ही प्रशासनिक स्तर से ठोस कार्रवाई हो रही है. अब ग्रामीण भी इन माफियाओं का विरोध दबे जुबान कर रहे हैं.

ताजा मामले के तहत मंगलवार को गुमानी नदी के धमनी के समीप कुटलो घाट के पुल के नीचे से अवैध तरीके से बालू का उठाव करने से ग्रामीण काफी नाराज हैं. ग्रामीणों का मानना है कि पुल के नीचे से बालू का उठाव करने से पुल पर इसका असर पड़ेगा. चतकम और धमनी बाजार को जोड़ने वाली एक मात्र पुल का क्षतिग्रस्त होने से हजारों लोगों पर इसका असर पड़ेगा, इसी वजह से ग्रामीण बालू उठाव का विरोध कर रहे हैं.

क्या कहते हैं ग्रामीण

नाम व पहचान गुप्त रखने की शर्त पर ग्रामीण ने बताया कि बालू माफिया मुखिया द्वारा दिये जा रहे प्रधानमंत्री आवास निर्माण के लभूकों के नाम पर चालान कटा कर बालू को साहेबगंज जिला के बरहेट थाना क्षेत्र के पडेरबाथन में अवैध तरीके से बने डिपो में डंप किया जाता है. इसके पश्चात माफिया उक्त डंप बालू को बड़े ट्रक के माध्यम से साहेबगंज सहित बिहार के विभिन्न हिस्सों में सप्लाई करते हैं. जिससे एक ओर माफिया मालामाल हो रहे हैं और सरकार को प्रतिदिन लाखों रुपए के राजस्व का नुकसान हो रहा है.

प्रमुख ने अवैध बालू उठाव रोकने को ले बीडीओ को लिखा था पत्र

बालू के अवैध उठाव की रोकथाम को लेकर झामुमो प्रखंड अध्यक्ष सह प्रमुख सुलेमान बास्की ने आगामी 19 नवंबर को प्रखंड विकास पदाधिकारी सह अंचल अधिकारी सत्यवीर रजक, जिला खनन पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी व स्थानीय थाना को पत्र लिखकर बालू के अवैध उठाव की रोकथाम की मांग की है. उन्होंने पत्र में कहा प्रखंड कि धमनी नदी के चटकम, दरादर, छोटाघाघरी, घाटो से बालू माफियाओं द्वारा अवैध तरीके से प्रतिदिन 50 से 60 ट्रैक्टर बालू उठा कर प्रखंड सहित साहिबगंज जिले के विभिन्न इलाकों में खुले आम ले जाया जाता है. इससे सरकार को प्रतिदिन लाखों रुपए राजस्व का नुकसान हो रहा है.

क्या कहते हैं बीडीओ

बीडीओ सत्यवीर रजक ने बताया कि अगर वाहन चालक प्रधानमंत्री आवास निर्माण के लाभुकों के नाम पर चालान कटा कर बालू का कारोबार करते हैं तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने सभी मुखियाओं को चालान में उठाव का समय व उसे लाभुकों के घर तक पहुंचाने का एक निर्धारित समय अंकित करने की बात कही, ताकि बालू का अवैध उठाव पर अंकुश लगाया जा सके.

क्या कहती है पुलिस

ओपी थाना प्रभारी राजकुमार सिंह ने बताया कि धमनी नदी से हो रहे बालू उठाव पर रोक लगाने के लिए सीनियर अधिकारियों द्वारा कोई आवश्यक दिशा निर्देश नहीं दिया गया है. आदेश प्राप्त होने से निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी.

Related posts

जेल में कैदियों के बीच मारपीट मामले की जेल आईजी ने की जांच

Rajesh

जमशेदपुर : जमीन कारोबारी को सरेआम अपराधियों ने मारी गोली

Rajesh

रेल मजदूरों की मांगों को लेकर संघर्षरत रहने वाला श्रमिक संगठन है ईसीआरकेयू : बीके झा 

Manoj Singh

कुछ मिनट एंबुलेंस खड़ा करने का मेदांता ने वसूले 25 सौ रुपये, नहीं दिया बिल

Rajesh

वृद्ध दंपती के घर डकैती की योजना बना रहे थे बदमाश, पुलिस ने एक को किया गिरफ्तार

Manoj Singh

लोकतंत्र बनाम आपातकाल विषय पर संगोष्ठी, बलबीर दत्त ने कहा- आज के मीडिया को जागरूक रहने की जरूरत

Rajesh
WhatsApp chat Live Chat