रिम्‍स में संवेदनहीनता : मरीज के परिजन से पोस्‍टमार्टम के एवज में 1500 रुपये मांगे

रिम्‍सरांची : राज्‍य के सबसे बड़े सरकारी अस्‍पताल रिम्‍स में संवेदनहीनता की खबरें आम बात है. कभी मरीज को फर्श पर खाना दिया जाता है, तो कभी गार्ड लात मारकर मरीज को बाहर निकाल देते हैं, तो कभी पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट बनाने के एवज में रकम की मांग की जाती है. वैसा ही एक मामला रविवार को भी रिम्‍स में आया. कोडरमा से रिम्स आये मरीज के परिजन रामदेव प्रसाद वर्मा से पोस्‍टमार्टम के एवज में 1500 रुपये की मांग की गई. रामदेव प्रसाद वर्मा ने बताया कि पोस्‍टमार्टम के एवज में एक व्यक्ति ने 1500 रुपये की मांग की. उसने कहा कि 600 रुपये पोस्टमार्टम के लिए लगता है. जबकि 300 रुपये लाश को पैक करने के लिए प्लास्टिक के लिए और 600 रुपये लाश को पोस्टमार्टम हाउस से बाहर निकालने के लिए देने पड़ते हैं. जिसके बाद मृतक के परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस जाकर चिकित्सक से पैसे नहीं होने की बात कही. ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक ने पोस्टमार्टम के एवज में पैसे नहीं लगने की बात कही. इस घटना की जानकारी मिलते ही प्रभारी चिकित्सा उपाधीक्षक डॉ संजय कुमार ने खुद पोस्टमार्टम हाउस जाकर मरीज के परिजनों से पूरे मामले की जानकारी ली और पोस्टमार्टम के एवज में पैसा वसूलने की बात को सिरे से खारिज कर दिया.




इसे भी पढ़ें :ड्रोन कैमरे से होगी जगन्‍नाथपुर मेले की निगरानी, तैयारी में जुटा प्रशासन और निगम की टीम   

इसे भी पढ़ें :सामूहिक विवाह कार्यक्रम में जमकर नाचे सीएम रघुवर दास, कहा- सभी जिलों में हो ऐसे आयोजन

ट्रॉलीमैन को सेवाभाव से काम करने की हिदायत

पोस्‍टमार्टम के एवज में पैसा की मांग करने की जानकारी मिलने के बाद प्रभारी चिकित्सा उपाधीक्षक डॉ संजय कुमार ने सभी ट्रॉलीमैन को बुलाया और सख्त हिदायत देते हुए कहा कि यदि कोई भी व्यक्ति रिम्स परिसर में मरीज अथवा उनके परिजनों से पैसा लेते हुए पकड़ा गया, या मांग की तो उसे काम से बर्खास्त कर दिया जायेगा. उन्‍होंने कहा कि मरीज के परिजन पहले से परेशान रहते हैं, उन्‍हें और परेशान ना करें, आप सब अपना काम सेवा भाव के साथ करें. काम के एवज में जो पैसे का भुगतान कंपनी ट्रॉलीमेन को करती है, वही आपका मेहनताना है. इसके अलावा एक रुपया भी मरीजों से लिया, तो आरोपी पर सख्‍त कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें :मजदूरों से भरी पिकअप वैन पलटी, 15 मजदूर घायल, 6 गंभीर, TMH रेफर





WhatsApp chat Live Chat