विकास योजनाओं में बरती जा रही अनियमितता,  विधायक की भी नहीं सुन रहे संवेदक

विकास कार्यों में संवेदकों द्वारा घोर अनियमितता बरती जा रही गोमो (धनबाद) : तोपचांची प्रखंड जैसे घोर उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के विकास के लिए राज्य सरकार कई प्रकार की विकास योजनाएं चला रही है. ग्रामीणों के विकास के लिए कई विकास कार्य कराये जा रहे हैं, मगर उन विकास कार्यों में संवेदकों द्वारा घोर अनियमितता बरती जा रही है. जिसे रोकने में स्थानीय विधायक भी फेल साबित हो रहे हैं.

तोपचांची प्रखंड के सुदूर गांवों के विकास को लेकर सरकार वहां बुनियादी सुविधा मुहैया कराने में जुटी है. सरकारी योजनाओं के माध्यम से सुदूर गांवों के ग्रामीणों को मुख्य धारा में लाने का प्रयास किया जा रहा है. मगर संवेदन अपनी जेब भरने के चक्‍कर में सरकार की योजनाओं पर पानी फेरते नजर आ रहे हैं. निर्माण कार्यों में भारी अनियमितता बरती जा रही है. योजना की मॉनिटरिंग कर रहे संबंधित इंजीनियर भी अपने कानों में तेल डालकर  सोय हुए हैं. ये संवेदक विधायकों की फटकार को भी अनसुना कर निर्माण कार्यों में अनियमितता बरत रहे हैं.

 इसे भी पढ़ें : कैसे जान जोखिम में डाल मौत के पुल पर सफर करते हैं लोग (देखें वीडियो)

पांच जून को विधायक ने नवनिर्मित तोपचांची प्रखंड कार्यालय का निरीक्षण किया थानवनिर्मित तोपचांची प्रखंड कार्यालय

मालूम हो कि बीते पांच जून को तोपचांची प्रखंड कार्यालय के पीछे नवनिर्मित प्रखंड कार्यालय का निरीक्षण करने स्थानीय विधायक राजकिशोर महतो और डुमरी विधायक जगरनाथ महतो पहुंचे थे. नवनिर्मित तोपचांची प्रखंड कार्यालय के निर्माण में भारी अनियमितता को देखकर विधायक ने सबके सामने ही संबंधित ठेकेदार को जमकर खरी-खोटी सुनाई थी. मौके पर जुनियर इंजीनियर के अनुपस्थित रहने पर विधायक ने नाराजगी जताई थी. उन्‍होंने मौके पर निर्माण कार्य को गुणवत्‍तापूर्ण करने का निर्देश दिया था. ऐसा नहीं करने पर कंपनी को ब्‍लैक लिस्‍टेड करने की बात कही थी, मगर विधायक की फटकार और निर्देश का संवेदक पर कोई असर नहीं पड़ा. निर्माण कार्य में अनियमितता जारी है.

 इसे भी पढ़ें : न्यूज 11 ने शराब के काले बाजार का किया भंडाफोड़, बेनकाब हुआ ये अधिकारी (देखें वीडियो)




एक तरफ से हो रहा है सड़क का निर्माण, दूसरी तरफ से पड़ रही दरारेंएक तरफ से हो रहा है सड़क का निर्माण, दूसरी तरफ से पड़ रही दरारें

व‍हीं चैता पंचायत के खेरबेड़ा में चैता से खेरबेड़ा तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत करोड़ों की लागत से सड़क निर्माण कराया जा रहा है. इस सड़क निर्माण में भी अनियमितता बरती जा रही है. एक तरफ से सड़क का निर्माण हो रहा है, तो दूसरी तरफ से सड़क में दरारें पड़ रही है. सड़क निर्माण के बीच में बनने वाली पुलिया के निर्माण में भी घोर अनियमितता बरती जा रही है. पुलिया निर्माण में संवेदक घटिया पत्थर और सीमेंट कम बालू का अधिक इस्तेमाल कर रहे हैं. निर्माण कार्य की मॉनिटरिंग करने वाले इंजीनियर निर्माण स्‍थल पर नहीं आते हैं. जिससे संवेदक अपनी मनमर्जी से निर्माण कार्य कर रहे हैं. ग्रामीणों ने कहा कि जब ये विधायक की नहीं सुन रहे हैं, तो हमारी शिकायत का इनपर क्‍या असर होगा.

तोपचांची प्रखंड के चितरपुर पंचायत अंतर्गत हो रहे सड़क निर्माण में भी भारी अनियमितता बरती जा रही है. तोपचांची के NH-02 सड़क से पिपराडीह तक सड़क निर्माण (ग्रामीण विकास विभाग)  द्वारा कराया जा रहा है.


इसे भी पढ़ें : भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक पर विधानसभा में हंगामा, कार्यवाही स्‍थगित

राजकिशोर महतो ने कड़े शब्दों में कहा कि प्रखंड कार्यालय निर्माण कार्य में भारी अनियमितता बरती जा रही है. जिसकी शिकायत वे अपनी रिपोर्ट में करेंगे, ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा.


विधायक जगरनाथ महतो ने कहा कि प्रथम दृष्टया तोपचांची प्रखंड के नव निर्मित भवन निर्माण कार्य में अनियमितता बरती जा रही है, जो बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा.

सदानंद महतो (जिलाध्यक्ष, किसान मोर्चा, आजसू ) ने संवेदक और संबंधित विभाग पर सवाल उठाते हुए कहा कि स्थानीय विधायक राजकिशोर महतो और डुमरी विधायक जगरनाथ महतो ने संयुक्त रूप से नवनिर्मित प्रखंड कार्यालय की जांच में घोर अनियमितता देखी थी, लेकिन आज तक किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई ये अफ़सोस की बात है. इस भ्रष्‍टाचार में अगर कोई अधिकारी, पदाधिकारी लीपापोती का काम कर रहे हैं तो ये सरासर गलत है. मामले में कार्रवाई होनी चाहिए.  

इसे भी पढ़ें : बच्‍चा चोरी की अफवाह पर कोर्ट ने 12 आरोपियों को माना दोषी, सुनाई 4 साल की सजा





WhatsApp chat Live Chat