जमशेदपुर: थाना प्रभारी ने नहीं उठाया सरयू राय का फोन, मंत्री ने जमकर लगाई फटकार (वीडियो)

Jamshedpur station incharge not attended saryu rai callजमशेदपुर: जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा के विधायक और सूबे के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने एक बार फिर जमशेदपुर पुलिस की कार्यशैली पर बड़ा सवाल खड़ा किया है. दरअसल मंत्री सरयू राय ने एक फरियादी की शिकायत पर अपने मोबाइल फोन से उलीडीह थाना प्रभारी को कॉल किया, रिंग होने के बावजूद किसी ने कॉल पिक नहीं किया.

मंगलवार की रात साढ़े आठ बजे से मंत्री सरयू राय ने उलीडीह थाना प्रभारी को एक नहीं, बल्कि कई बार फोन किया लेकिन थाना प्रभारी द्वारा कोई जवाब नही दिया गया. इस बीच उन्होंने दो बार एसएमएस भी थानेदार को किया लेकिन फिर भी जवाब नही मिलता देख मंत्री सरयू राय स्वयं हकीकत से रूबरू होने उलीडीह थाना पहुंचे.

यहां ड्यूटी पर तैनात एक मात्र एएसआई से उन्होंने सवाल किया कि बड़े साहब कहां हैं, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नही मिला.  मंत्री सरयू राय उलीडीह थाना में ही थाना प्रभारी के इंतजार में काफी समय तक बैठे रहे. इस पूरे वाकया के बाद पुलिस की कार्यशैली पर उन्होंने गंभीर सवाल खड़ा करते हुए जम कर क्लास ली.




पुलिस के निकम्मेपन से आहत मंत्री सरयू राय ने इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए कहा कि उनके द्वारा उलीडीह थाना प्रभारी को कई बार फोन किया गया, लेकिन कोई जवाब नही मिला. दो बार एसएमएस भी भेजा गया इसजे बावजूद भी कोई रिप्लाई नही आने से वे उलीडीह थाना पहुंचे. उन्होंने आशंका जताई कि शायद तब तक थानेदार के मातहत किसी पुलिसकर्मी से उनके आने की सूचना दे दी हो. ऐसे में मंत्री सरयू राय ने सवाल खड़ा किया कि  जब  राज्य के मंत्री और स्थानीय जनप्रतिनिधि के साथ जमशेदपुर पुलिस इस तरह का सलूक कर सकती है, तो साधारण व्यक्ति के साथ पुलिस का रवैया किस तरह का होता होगा, यह आसानी से समझा जा सकता है. थाना में सिर्फ एक एएसआई है, किसी का कोई पता नही है. पूछे जाने पर बताया भी नही जाता है कि थाना प्रभारी कहां हैं?

कुछ इस तरह की हालत जमशेदपुर पुलिस की हो गई है. उन्होंने कहा कि यदि थाना प्रभारी किसी फरारी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी में है, तो बताना चाहिए. उनका लोकेशन बताने में थाना में कोई भी सक्षम नही है. उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में वे एसपी साहब से पूछताछ करेंगे.





WhatsApp chat Live Chat