आयुष्‍मान भारत के साथ-साथ झारखंड को दो मेडिकल कॉलेजों की मिली सौगात

आयुष्‍मान भारतरांची :  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को झारखंड की राजधानी रांची से विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना, आयुष्मान भारत के तहत जन आरोग्य योजना का शुभारंभ किया. इस योजना के तहत झारखंड के 57 लाख गरीब परिवार लाभान्वित होंगे. इसी के साथ पीएम ने चाईबासा में 272 करोड़ और कोडरमा में 328 करोड़ की लागत से बनने वाले मेडिकल कॉलेजों का भी ऑनलाइन शिलान्यास किया. साथ ही राज्य के 10 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का भी उद्घाटन किया.

Read More : देश के 50 करोड़ से ज्यादा भाई-बहनों को मिलेगा योजना का लाभ : मोदी

Read More :  पीएम ने किया आयुष्‍मान भारत योजना का शुभारंभ, पांच लाभुकों को दिया गोल्‍डन कार्ड

पीएम मोदी ने आयुष्‍मान भारत योजना के बारे में लोगों को जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना से जुड़े लोग राज्‍य के बाहर रहने पर भी लाभ ले सकते हैं. इस योजना में किसी तरह के रजिस्‍ट्रेशन की जरूरत नहीं है. आप 14555 नंबर पर फोन कर योजना की जानकारी ले सकते हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्‍मान भारत योजना कितनी व्यापक है, इसका अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि योजना में कैंसर, दिल की बीमारी, किडनी और लीवर की बीमारी, डायबटीज समेत 1300 से अधिक बीमारियों का इलाज शामिल है. इन गंभीर बीमारियों का इलाज सरकारी ही नहीं बल्कि अनेक प्राइवेट अस्पतालों में भी करा सकते हैं. इस मौके पर प्रधानमंत्री के हाथों से पांच लाभुकों को योजना का गोल्डन कार्ड दिया गया. इस योजना से देश के 10.74 करोड़ और झारखंड के 57 लाख गरीब परिवारों को सीधा लाभ मिलेगा. वे कैशलेस इलाज करा पाएंगे.

Read More :  सीएम रघुवर दास ने दिया तीन नारा, विकास, नरेंद्र मोदी, भारत

Read More : पूरी दुनिया में आयुष्‍मान भारत योजना की चर्चा : जेपी नड्डा

आयुष्मान भारत योजना आने वाले समय में मानवता की बहुत बड़ी सेवा के तौर पर देखा जाएगा

आयुष्मान भारत योजना का शुभांरभ करते हुए पीएम ने कहा कि इस योजना को आने वाले समय में मानवता की बहुत बड़ी सेवा के तौर पर देखा जाएगा. उन्होंने कहा कि ऋषि-मुनियों ने जो सदियों पहले संकल्प किया था, उसे इस शताबदी में पूरा किया गया.




Read More : प्रभात तारा मैदान पहुंचे मोदी, थोड़ी देर में आयुष्‍मान भारत योजना का करेंगे शुभारंभ

सबको मिलेगा समान चिकित्सा सुविधा

उन्‍होंने कहा कि समाज के आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति को लाभ मिलेगा. गरीब से भी गरीब को इलाज मिले, स्वास्थ्य की बेहतर सुविधा मिले, आज इस विजन के साथ बहुत बड़ा कदम उठाया गया है. बेहतर इलाज कुछ लोगों तक सीमित न रहे. सबको समान चिकित्सा सुविधा मिले. इस उद्देश्य के साथ यह योजना देश को समर्पित कर रहे हैं. बीमार पड़ने पर अमीर जिस सुविधा का उपभोग करते हैं, जो चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध हैं, अब देश के गरीब को भी वही सुविधाएं उपलब्ध होंगी. अगर कभी मुसीबत आयी, तो आयुष्मान भारत आपकी सेवा में समर्पित है. आयुष्मान भारत के संकल्प के साथ, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आज से लागू हो रही है.

Read More : पीएम मोदी आज करेंगे आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत, झारखंड के 57 लाख परिवारों को मिलेगा लाभ

दुनिया भर में योजना की हो रही है तारीफ

मोदी ने कहा कि दुनिया भर में इस योजना की चर्चा है. उसकी तारीफ हो रही है. आने वाले दिनों में मेडिकल क्षेत्र में काम करने वाले लोग आरोग्य से जुड़ी विभिन्न योजनाओं, आधुनिक चिकित्सा की चर्चा करने वाले लोग इसकी चर्चा करेंगे. छह महीने के भीतर दुनिया की सबसे बड़ी योजना की कल्पना से लेकर उसे पूरा करने तक की यात्रा हमारी टीम ने पूरी की है. अभी तक 50 करोड़ लोग इस योजना से जुड़े, जबकि 13000 अस्पताल इस योजना से जुड़ चुके हैं. आयुष्मान भारत योजना से जुड़ी पूरी टीम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंच से बधाई दी.

Read More : बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पहुंचे पीएम मोदी, सीएम रघुवर दास और राज्‍यपाल द्रौपदी मुर्मू ने किया स्‍वागत

विपक्ष पर साधा निशाना

पीएम मोदी ने रांची में आयुष्‍मान भारत योजना के शुभारंभ के मौके पर विपक्ष पर भी निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों ने अपनी राजनीतिक सेहत सुधारने के लिए सरकारी खजानों को लूटने का काम किया. सामाजिक विकास पर ध्‍यान ना देकर वोट बैंक बनाने में जुटे रहे, जिसका खामियाजा देश के लोगों को भुगतना पड़ रहा है. मगर अब परिस्थितियां बदल रही है. गरीबों के लिए वर्तमान सरकार ने कई जनकल्‍याणकारी योजनाओं की शुरुआत की है. जिसका गरीबों को लाभ मिलना शुरू हो गया है.





WhatsApp chat Live Chat