विकास के पथ पर बढ़ रहा झारखंड, देश के अग्रणी राज्‍यों में होगी गिनती : रघुवर

रांची : आपका विश्वास, आपका भरोसा ही हमारी ताकत है. आपकी उम्मीदों पर खरा उतरना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य है. मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि झारखण्ड और तेजी से विकास के पथ पर बढ़ेगा, पूरे देश के लिए हमारा राज्य एक मिसाल होगा, देश के अग्रणी राज्यों में  झारखण्ड की गिनती होगी. आज इस पावन  दिवस पर हम सब मिलकर सुखी, समृद्ध एवं विकसित झारखंड बनाने की दिशा में कार्य करने का संकल्प लें. हम सब मिलकर एक ऐसे झारखंड का निर्माण करें, जो भ्रष्टाचार, जातिवाद, संप्रदायवाद, वंशवाद से मुक्त हो तथा नागरिकों को गरिमापूर्ण जीवन जीने का अवसर प्राप्त हो. मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने मोरहाबादी मैदान में आयोजित राज्य स्थापना दिवस समारोह में यह बात कही.

झारखंड की धरती अनेक वीर सपूतों की जननी

मुख्यमंत्री ने झारखण्ड की सवा तीन करोड़ जनता को भगवान बिरसा मुंडा जयंती और राज्य स्थापना दिवस के अवसर हार्दिक बधाई दी और कहा कि झारखंड राज्य स्थापना दिवस के इस पावन अवसर पर मैं, आप सभी का हार्दिक अभिनन्दन करता हूं तथा राज्य की सवा तीन करोड़ जनता को झारखंड के 19वें स्थापना दिवस की हार्दिक बधाई देता हूं. आज झारखंड के धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा का जन्म दिवस भी है. इस पावन अवसर पर झारखंड की माटी को गौरवान्वित करने वाले ऐसे वीर सपूत को सर्वप्रथम नमन करता हूं तथा सवा तीन करोड़ जनता की आसर से भगवान बिरसा मुंडा को श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं. झारखंड की धरती ऐसे अनेक वीर सपूतों की जननी रही है, जिनके त्याग और बलिदान की संघर्ष गाथा हमें राष्ट्र और राज्य के लिए कुछ करने की प्रेरणा देती है. झारखंड के उन सच्चे सपूतों को मैं शत-शत नमन करता हूं.

आज का युवा विकास चाहता है, सिर्फ विकास

मुख्यमंत्री ने कहा कि अपनी बात आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको एक घटना सुनाना चाहता हूं. दो दिन पहले ही मैं जमशेदपुर में एक युवक गगनदीप से मिला जिसका जन्म उसी दिन हुआ था जिस दिन झारखण्ड का सृजन हुआ था. झारखण्ड और गगनदीप एक साथ युवा हुए हैं. जब मैं गगनदीप से मिला, उसकी उम्मीदें जानीं तो पता चला कि आज का युवा विकास चाहता है, सिर्फ विकास. समाज, देश और दुनिया की हर घटना पर उसकी पैनी नजर है. वो हर चीज को अपने नजरिए से देख रहा है. वो किसी के बहकावे में नहीं आता है. इसलिए विकास कार्यों को लेकर हम सबकी जिम्मेदारी अब और बढ़ जाती है.




अटल जी ने 15 नवंबर 2000 को झारखण्ड राज्य का दिया उपहार

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड हम सबका है, राज्य स्थापना दिवस का ये समारोह भी सवा तीन करोड़ झारखण्डवासियों के लिए खुशियों का पल है. आज रह रहकर मन में स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृतियां उमड़ रही हैं. तत्कालीन उप प्रधानमंत्री व गृह मंत्री लालकृष्ण आडवाणी भी याद आ रहे हैं. उनके साथ अलग राज्य के लिए आंदोलन कर रहे लोग याद आ रहे हैं. हम सबके प्यारे अटल जी ने 15 नवंबर 2000 को झारखण्ड राज्य का उपहार हमें दिया था. तबसे कई सरकारें आईं गईं, और ये कोई आरोप प्रत्यारोप नहीं है लेकिन ये एक कड़वा सच है कि हमारे झारखण्ड का जितना विकास होना चाहिए था, वो नहीं हुआ.

झारखण्ड खुले में शौच से मुक्त (ODF) हुआ

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमनें झारखंड की मूलभूत समस्याओं यथा बिजली, सड़क, पेयजल, स्वास्थ्य, शिक्षा, आधारभूत संरचना एवं बेरोजगारी का मामले पर ध्यान केंद्रित किया है. सवा तीन करोड़ झारखण्डवासियों के लिए ये गर्व की बात है कि एक साल पहले ही हमने झारखण्ड को खुले में शौच से मुक्त (ODF) कर दिया है. आज हमारे तीन जिले देवघर,हजारीबाग और लोहरदगा पूर्ण रूप से विद्युतीकृत हो गए हैं. चार जिलों में हम पहले ही हर घर तक बिजली पहुंचा चुके हैं. दिसंबर 2018 तक राज्य का हर कोना बिजली से रोशन होगा. बिजली के क्षेत्र में पिछले चार साल में 117 नए सब स्टेशन, 40 ग्रिड सबस्टेशन का निर्माण कराया है. ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन सुधारने के लिए 4 लाख 27 हजार किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन और 1 लाख 41 हजार 976 किलोमीटर डिस्ट्रीब्यून लाइन का काम खत्म हो चुका है. बिजली का उत्पादन एक बड़ा मुद्दा था. पतरातु में एनटीपीसी के साथ 4000 मेगावाट क्षमतावाले पावर प्लांट का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है. मुझे पता है कि अभी राज्य में बिजली की दिक्कत है, हम उसे दूर करने में लगे हैं.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat