मलेशिया में फंसे झारखण्ड के मज़दूर सोशल मीडिया के ज़रिये वतन वापसी की लगा र‍हे गुहार

मलेशिया में फंसे झारखण्ड के मज़दूरबोकारो : धनबाद, बोकारो और हजारीबाग से ताल्लुक रखने वाले आठ मजदूरों ने मलेशिया से अपने वतन वापसी की गुहार लगाई है. सोशल मीडिया के माध्यम से सभी मजदूरों ने भारत सरकार व झारखंड सरकार के नाम त्राहिमाम संदेश भेजा है. बता दें, कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब दलालों के चक्कर में पड़कर गरीब तबक़े के लोग विदेशों में फंसे जाते हैं. पूर्व में भी ऐसे कई मामले सामने आए हैं.

इसे भी पढ़ें : सांसद ने विरोधियों को दी नसीहत, कहा- 2024 तक गिरिडीह में नहीं है वैकेंसी

ज्‍यादा पैसे का लालच देकर ब्रोकर ने मजदूरों को फंसाया

इस मामले में भी ब्रोकर इन मजदूरों को ज्यादा पैसे कमाने का लालच देकर मलेशिया पहुंचा दिया, लेकिन जब वहां काफी कम मेहनताना पर काम कराया जाने लगा तो मजदूर ठगे से महसूस कर रहे हैं और वापसी की गुहार लगा रहे हैं.




इसे भी पढ़ें : धनबाद: सनकी प्रेमी ने खराब किया युवती का चेहरा, कहा- जब-जब आईना देखोगी, मुझे याद करोगी

मलेशिया में ये मजदूर हैं फंसे

बोकारो जिले के चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के हुरलूंग के मो साबिर अंसारी, बालदेव पंडित, तिलेश्वर पटेल, सौरभ कुमार महतो, टेकलाल महतो, चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के सिधाबारा के रहनेवाले सरजू महतो, हजारीबाग जिले के बिष्णुगढ़ थाना क्षेत्र के नागी के रहनेवाले संजय महतो व धनबाद जिले के तोपचांची के रहनेवाले संजय महतो शामिल है.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर: रिलायंस फ्रेश में मिली प्लास्टिक अंडों की बिक्री की जानकारी, खुद पहुंचे सरयू राय





WhatsApp chat Live Chat