रांची: काम के बहाने दिल्ली ले जाई गई नाबालिगों के साथ हुआ दुष्कर्म, वापस आकर सुनाया दर्द

minors raped in delhi रांची: झारखण्ड की बेटियों के काम दिलाने का झांसा देकर दलाल अपने साथ दिल्ली ले गए. लेकिन वहां उनके साथ दुष्कर्म किया गया. ये खुलासा दलालों के चंगुल से बचाई गई बेटियों ने किया. दिल्ली के एनजीओ शक्ति वाहिनी ने इन बच्चियों को बचाकर कल राजधानी एक्सप्रेस से वापस रांची भेजा.

शक्ति वाहिनी ने कुल 7 नाबालिगों को छुड़ाया है. इनमें से 4 ने अपने साथ दुष्कर्म की बात स्वीकारी. ये सभी बच्चियां दिल्ली, फरीदाबाद और गुडगांव की बड़ी कोठियों में काम करती थीं. इनमें से एक लड़की ने तो दिल्ली में एक बच्चे को भी जन्म दिया. दिल्ली से छुड़ाकर इन्हें पहले एक आश्रयगृह में रखा गया, जहां से अब इन्हें रांची भेजा गया है.

बच्चियां कल दोपहर 12 बजे रांची पहुंची, जहां से इन्हें चाइल्ड वेलफेयर कमिटी मेंबर्स के पास लाया गया. इनकी कहानी सुनकर सभी स्तब्ध रह गये.

मुंहबोले भाई ने किया दुष्कर्म




इनमें से एक बच्ची लातेहार की रहने वाली है. उसके सगे भाई ने उसे काम दिलाने का झांसा देकर दिल्ली पहुंचाया और एक घर में 4 हजार तनख्वाह पर नौकरी लगवा दी. जब उसे वहां तनख्वाह नहीं दी गई, तो लड़की ने वापस लातेहार आने का फैसला किया. वहां काम करने वाली दूसरी दाई, जिसे वो मुंहबोला भाई कहती थी, ने उसे घर पहुंचाने का भरोसा दिलाया. वो उसके साथ निकली तो, लेकिन मुंहबोले भाई उसके साथ दुष्कर्म कर उसे अकेला छोड़ कर भाग गया.

दिल्ली में दिया बच्चे को जन्म

एक बच्ची काम कर जब दिल्ली से अपने घर चाईबासा लौटी, तो उसके गांव के एक दबंग ने उसके साथ दुष्कर्म किया. दिल्ली जाकर उसनें बच्चे को जन्म दिया. इसके बाद वो वापस लौटी.

वहीं एक बच्ची अपने शराबी पिता से बचने के लिए भागकर दिल्ली पहुंची. वहां वो घरों में काम करने लगी. इस दौरान कई बार उसके साथ दुष्कर्म किया गया.

जीजा करता रहा दुष्कर्म

हटिया की रहने वाली 10 साल की बच्ची को उसकी बहन पढ़ाने के लिए दिल्ली ले गई थी, लेकिन उसका जीजा उसके साथ दुष्कर्म करता रहा.





WhatsApp chat Live Chat