झोलाछाप डॉक्टर से करवाने गया गर्भवती बीवी का इलाज, मौत

jholachaap doctor कुंदा थाना क्षेत्र के बैरियाचक गांव निवासी गुड्डू कुमार महतो की पत्नी संजू कुमारी की मौत अर्थाभाव में समुचीत इलाज नही होने के कारण हो गई. प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला आठ माह की गर्भवती थी. गर्भवती पत्नी को लेकर गुड्डू महतो कुछ दिन पूर्व कुंदा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचा था, जहां चिकित्सक नहीं होने के कारण उसे एएनएम में महिला का टीकाकरण कर भेज दिया था. इसके बाद उत्तम पत्नी को ले झोलाछाप डॉक्टर के पास पहुंचा.




जहां उसे बताया गया कि मरीज को खून की कमी है, इसे जल्द से जल्द खून चढ़ाना पड़ेगा. इसमें करीब चार हजार रुपये खर्च आने की बात भी बताई गई. पेशे से मजदूर गुड्डू पैसे के जुगाड़ में जुट गया लेकिन वह पैसे का जुगाड़ नहीं नहीं कर पाया. परिणामस्वरुप गर्भवती महिला को अर्थाभाव में न समुचीत इलाज हुआ और ना ही खून चढ़ाया जा सका. ऐसे में गर्भवती की स्थिति बिगड़ती चली गई.

स्थिति बेहद गंभीर हो जाने पर आसपास के लोगों की मदद से उत्तम अपनी पत्नी को ऑटो से लेकर चिकित्सक के पास जाने के लिए निकला लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. बताया जाता है कि संजू व उत्तम ने दो वर्ष पूर्व प्रेम विवाह किया था. उसके बाद उत्तम के घर वालों ने दोनों को घर से निकाल दिया था. मौत की सूचना मिलते ही पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए चतरा भेज दिया है. वहीं, स्थानीय थाना में यूडी केस दर्ज कर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.





WhatsApp chat Live Chat