BREAKING

11 हजार करंट की चपेट में आने से खटाल संचालक की मौत

Power-Gridचतरा : 11 हजार करंट की चपेट में आने से खटाल संचालक संतोष यादव की मौत गई. यह घटना शहर के मारवाड़ी मोहल्ला इलाके की है. अहले सुबह मवेशियों को चारा देने के उद्देश्य से पानी लाने चापाकल पर खटाल संचालक गए उसी समय विद्युत प्रवाहित 11 हजार करंट के चपेट में आने से मौत हो गई.

गंदौरी मंदिर इलाके में मृतक खटाल संचालक का खटाल है. यहां पानी भरने के दौरान अचानक ग्यारह हजार करंट का तार टूट कर सड़क पर गिर गया. सड़क पर गिरे तार ने संतोष को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई. आनन-फानन में स्थानीय लोगों ने बिजली विभाग को घटना की सूचना देकर लाइट कटवाया और संतोष को उपचार के लिए सदर अस्पताल ले गए. तब तक बहुत देर हो चुकी थी, अस्पताल पहुंचते ही चिकित्सकों ने संतोष को मृत घोषित कर दिया.




परिजनों ने की मुआवजे की मांग

इधर घटना से आक्रोशित मृतक के परिजन मुआवजे व नौकरी की मांग को लेकर सड़क पर उतर गए. सूचना मिलते ही नगर परिषद उपाध्यक्ष सुदेश कुमार मौके पर पहुंचे और लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया. इस दौरान उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों से बात की. अधिकारियों ने सरकारी प्रावधानों के अनुसार मृतक के परिजनों को दो लाख रुपये का आर्थिक सहयोग देने की बात कही. जिसके बाद परिजन शांत हुए.

हैदराबाद की एजेंसी को मिली थी जिम्‍मेवारी

शहर के जर्जर विद्युत तारों को बदलने की जिम्मेवारी विद्युत आपूर्ति प्रमंडल ने हैदराबाद की एजेंसी मेसर्स गोपी कृष्णा को दिया है. एजेंसी को आपूर्ति प्रमंडल द्वारा डेढ़ वर्ष पूर्व ही कार्य आवंटन कर दिया गया है. इसके तहत एजेंसी को अभियान के तहत शहर के जर्जर तारों को बदलते हुए नए तार लगाने थे. लेकिन एजेंसी का काम इतना धीमा है कि करीब डेढ़ वर्ष बीत जाने के बाद भी अब तक तार नहीं बदले गए.



WhatsApp chat Live Chat