खूंटी: अफीम की खेती बना चुनौती, जिला प्रशासन ने तेज की कार्रवाई

Khunti Challenge opium cultivation action taken district administrationखूंटी: नक्सलवाद व विवादित पत्थलगड़ी से खूंटी को मुक्त करने के बाद जिला प्रशासन के लिए नशे की खेती अब चुनौती बनती जा रही है. जिले के तीन प्रखंड व पांच थाना क्षेत्रों में बड़ी संख्या में अफीम की खेती जिला प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है, लेकिन इस बार पुलिस-प्रशासन मिलकर अफीम मुक्त खूंटी बनाने की तैयारी में है. जिला परिषद सदस्य, मुखिया व ग्राम प्रधान से लेकर पंचायत सेवक समेत स्थानीय जनप्रतिनिधियों के खिलाफ जिला प्रशासन ने एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई करने की योजना बनाई है ताकि इस बार खूंटी में अफीम की पैदावार न हो और खूंटी अफीम मुक्त हो सके.

खूंटी, अड़की, मुरहू, मारंगहदा व सायको थाना क्षेत्र में अवैध अफीम लगाने की शुरुआत अफीम तस्करों ने शुरू कर दिया है. वहीं जिला प्रशासन भी उन स्थानों का मुआयना करने में जुट गई है, जहां पिछले दो वर्षों से तस्कर अफीम की पैदावार करते आ रहे हैं. जिसकी वजह से खूंटी अफगानिस्तान की तरह जाना जाता रहा है.

अक्टूबर माह से ही शुरू हो जाती है अफीम की खेती




अफीम की खेती के लिए तस्कर अक्तूबर माह से ही खेतों तक गोबर, खाद व पम्पसेट पहुंचाने में जुट जाते हैं. लेकिन खूंटी पुलिस इस बार वैसे खेतों में नजर रखने का काम कर रही है, जहां इस तरह के उपकरण पहुंचाए जा रहे हैं. चिन्हित जगहों पर पहुंचे उपकरण व खेतों के मालिक के खिलाफ जिला प्रशासन ने कार्रवाई भी शुरू कर दी है. कुछ दिन पूर्व खूंटी पुलिस ने अफीम के लिए बीज लगाते तीन किसानों को गिरफ्तार किया है और निशानदेही पर आगे की कार्रवाई कर रही है.

एसडीओ व एसपी ने इस वर्ष जिले को अफीम मुक्त करने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि से लेकर तस्कर व किसानों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर अधिकारीयों को निर्देशित किया है. साथ ही ग्रामीणों को अफीम से संबंधित जागरूकता फैलाने के लिए क्षेत्र में अभियान चलाने की योजना बनाई है.

पिछले दो वर्षों में खूंटी से सौ करोडो से अधिक का अफीम का कारोबार हो चूका है. जिसमें से खूंटी पुलिस ने 1500 एकड़ में फैले अफीम की फसल को नष्ट किया और दो दर्जन तस्कर व 28 लाख नकद समेत 20 किलो से अधिक अफीम बरामद किया. बावजूद इसके जिले में अफीम का कारोबार फैलता जा रहा है.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat