खूंटी: अफीम नहीं, घास की खेती कर लखपति बन रहे ग्रामीण, 1 एकड़ पर 1 लाख की कमाई

khunti women earnig lakhs from lemon grass farming खूंटी: काफी लंबे समय से खूंटी देशभर में गलत कारणों से ही चर्चा में रहा है. पहले पत्थलगड़ी, फिर अफीम की खेती, उसके बाद कोचांग दुष्कर्म कांड, मामला चाहे जो हो, इलाके का प्रचार नेगेटिव कारणों से ही रहा. लेकिन अब जाकर यहां से पॉजिटिव खबर आ रही है.

रांची: पत्नी ने शराब पीने से रोका, तो हाथ-पैर बांध दी इतनी दर्दनाक मौत

इलाके की महिलाएं अफीम की जगह लेमन ग्रास की खेती कर रही हैं. इस खेती से ग्रामीण सालाना प्रति एकड़ की फसल पर एक लाख कमा रहे हैं. इलाके में घुसते ही लेमन ग्रास की खुशबू आपका मूड फ्रेश कर देती हैं.




रांची: सिविल कोर्ट में मिला टिफ़िन बम! उड़े लोगों के होश

इलाके में एक साल से इसकी खेती शुरू हुई है. लेमन ग्रास महिलाओं की जिंदगी में भी हरियाली और खुशबू ला रही हैं. जिन बंजर जमीनों की तरफ लोगों की नजर नहीं जाती थी आज वह जमीन सोना उगल रही है. एक एकड़ जमीन से साल में करीब एक लाख रुपये की कमाई हो रही है.

रांची: ससुर की थी बहू पर बुरी नियत, सुपारी दे करवाई सगे बेटे की हत्या

सबसे अच्छी बात है कि इसकी खेती के लिए न पानी की जरूरत होती है न जानवरों के खाने का डर. लेमन ग्रास को ज्यादा पानी की जरूरत नहीं होती. इसे जानवर भी नहीं खाते. ऐसे में खूंटी के पठारी इलाकों के लिए यह माकूल है.





WhatsApp chat Live Chat