खुशबू हत्‍याकांड का खुलासा, पति-ससुर समेत चार गिरफ्तार, जेल

खुशबू हत्‍याकांड का खुलासा,बिरनी (गिरिडीह): बीते 16 सितम्बर की अहले सुबह गिरिडीह जिला के  बिरनी प्रखंड के खांखिपिपर गांव में हुई विवाहिता खुशबू खातून की हत्या के मामले से पर्दा उठा गया है. इस मामले में बिरनी पुलिस ने मृतका खुशबू खातून के पति समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. जिन लोगों की गिरफ्तारी हुई है, उसमें जमुआ थाना क्षेत्र के हीरोङीह गांव निवासी मृतक खुशबू खातुन के पति मकसूद अंसारी, ससुर मुस्लिम अंसारी, वेहराबाद गांव निवासी इस्लाम अंसारी, बाराडीह जमुआ के इस्लाम अंसारी का नाम शामिल है, जिसे मेडिकल जांच के बाद जेल भेज दिया है. थाना प्रभारी के समक्ष सभी आरोपितों ने हत्या करने की बात कबूल की है.

पति ने खोला हत्या का राज 

खुशबू खातून के पति मकसूद ने कहा कि खुशबू की निकाह पहले दूसरे जगह हुआ था. वहां से किसी कारण वश तलाक हो गया, उनके बाद मेरे साथ खुशबू की निकाह हुई. शादी के बाद दो बच्चे भी हुये. लेकिन खुशबू खातुन का लगाव पहले पति से बरकरार था और पूर्व पति से बातचीत भी होती रहती थी. हत्या के पूर्व खुशबू पर गांव में एक मोबाइल चोरी करने का आरोप लगा था, जिसको लेकर पत्नी से विवाद हो गया था. विवाद के बाद पत्नी मायके चली गयी. इस बीच पंचायत भी हुई. जब खुशबू को लेने ससुराल गया तो ससुराल वालों ने मारपीट किया था. जिससे नाराज़ होकर पत्नी की हत्या करने की साज़िश रची. हत्या में साथ देने के लिए 32 हजार रुपये में दोनों आरोपी को तैयार किया.




ससुराल वालों ने गला दबाकर किया हत्या 

आरोपी इस्लाम ने बताया कि सबसे बड़ा हत्यारा खुशबू के पति मकसूद अंसारी, सास कलवा खातून, ससुर मुस्लिम अंसारी, देवर फरीद अंसारी तथा नन्दोसिया क्‍यूम अंसारी है. सभी ने मिलकर गला दबाकर हत्या की. साक्ष्य छुपाने के लिए चेहरे पर तेजाब ङाल दिया था.

फोन कर पति ने बुलाया था 

खुशबू खातून अपने मायके बिरनी के खांखिपिपर गांव में रह रही थी. घटना की शाम मोबाइल पर फोन करके पति ने मिलने के लिये बुलाया था और एक गाड़ी में बिठाकर ले गया. खुशबू की हत्या करने के बाद पुनः बिरनी के खांखिपिपर गांव में शव लाकर फेंक दिया.

बता दें कि अपने मायके से 14 सितम्बर शाम से खुशबू खातून लापता थी. बीते 16 सितम्बर को घर के बगल के अर्धनिर्मित डोभा से शव बरामद हुआ था. मृतका के भाई ने बिरनी थाना में आवेदन देकर मृतक बहन के पति, सास, ससुर, देवर पर नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी थी.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat