रांची: पूर्व विधायक की बहू ने भी निर्मल ह्रदय से गोद ली थी बच्ची, जांच में जुटी पुलिस

kolebira vidhayak connection with nirmal hridayरांची: रांची के कांटाटोली स्थित मिशनरी चैरिटी निर्मल ह्रदय के तार धीरे-धीरे विदेशों तक पहुंचने लगे हैं. पुलिस यहां से बेची गई बच्चियों की जांच में जुटी है. उनकी  तलाश की जा रही है. इसी तलाशी के क्रम में पुलिस कोलेबिरा के पूर्व विधायक थियोडोर कीड़ो के घर जा पहुंची. कीड़ो की बहु ने भी निर्मल ह्रदय से ही बच्ची गोद ली थी.

लेकिन विधायक, उनकी बहू और बच्चे की असली मां ने ये दावा किया कि बच्ची की सौदेबाजी नहीं हुई. बच्ची की मां ने अपनी मर्जी से बच्ची को गोद देने की बात कही. बच्ची की असली मां नाबालिग है.उसनें पुलिस को एक शपथ पत्र सौंपा है. इसमें कहा है कि उसने 24 जून 2017 को निर्मल हृदय आश्रम में रहते हुए सदर अस्पताल में एक बच्ची को उसने जन्म दिया, बच्ची को जन्म देने के बाद उसने अपनी मां की परिचित महिला को उसे सौंप दिया था. वह परिचित महिला मिशनरीज ऑफ चैरिटी की सदस्य है. उसी ने विधायक के परिवार को यह बच्चा दिया. इसमें उसकी सहमति थी.




दरअसल, 2016 में बच्ची की मां के साथ दुष्कर्म हुआ था. इसके बाद जून 2017 में उसने बच्ची को जन्म दिया. जन्म देने से छह माह पूर्व वह निर्मल हृदय आश्रम पहुंची थी.

इस पूरे मामले में पूर्व विधायक थियोडोर किड़ो बोले- “सामाजिक व्यवस्था के तहत बच्ची को गोद लिया गया था. पूर्व विधायक थियोडोर किड़ो ने बताया कि उनकी बहू ने सामाजिक व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए बच्ची गोद लिया था. बच्ची की नानी उनकी समधन की परिचित है. बच्ची की मां की रजामंदी से यह सब हुआ, इसमें किसी भी तरह की लेनदेन नहीं हुआ था. मेरी बहू को कोई संतान नहीं है इसलिए उसने बच्ची को गोद लिया था. बच्ची को जन्म देने वाली मां भी मेरे घर आकर उसका देखभाल करती थी. मेरी बहू भी गोद ली गई बच्ची को अपनी बच्ची की तरह प्यार देती है. बच्ची को गोद लेने में पैसे का लेन-देन भी नहीं हुआ है”.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat