जमीन रैयत व भाकपा का धरना 7वें दिन भी जारी, कहा- मांगें नहीं मानी तो पुण्डी सीसीएल का काम होगा बंद

रामगढ़ : सीसीएल कुजू क्षेत्र के पुंडी कोलियरी में नौकरी और मुआवजे की मांग को लेकर  रैयत और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी कार्यकर्ताओं का धरना सातवें दिन भी जारी रहा. रैयतों का कहना है कि सात  दिनों के अंदर अगर मांगे नहीं मानी गईं तो पुण्डी सीसीएल का संपूर्ण कार्य ठप किया जाएगा.

रैयतों का आरोप है कि साल 2008 में सीसीएल ने लगभग 5 एकड़ 10 डिसमिल भूमि रैयत  स्वर्गीय कलीम अंसारी के भूमि पर कोयला निकालने का काम किया था. कोयला निकालने के बाद हमारी भूमि को छोड़ दिया गया. अगर सीसीएल हमारी भूमि को नहीं लेता तो कम से कम हम उससे अनाज तो उपजा सकते थे. उन्होंने कहा कि हमें आश्वासन के सिवा ना नौकरी मिली और ना ही मुआवजा मिला. सीसीएल हमारे साथ टालमटोल की नीति अपना रहा है. रैयतों के प्रति सीसीएल की मनसा ठीक नहीं है.




भाकपा के पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता, किसान महासभा के महासचिव महेंद्र पाठक, भाकपा प्रखंड सचिव कयूम अंसारी एवं रैयत के परिजन ने एक स्वर में कहा कि सात दिनों के अंदर अगर हमारी बात नहीं सुनी गई, तो सीसीएल पुण्डी कोलियरी का संपूर्ण काम ठप कर दिया जाएगा. इस अवसर पर रैयत कलीम अंसारी, सलामत हुसैन, इमरान अंसारी, शहंशाह खान, जैनव प्रवीण एवं भाकपा समर्थक कार्यकर्ता उपस्थित थे.

 





Loading...
WhatsApp chat Live Chat