हल्की बारिश ने खोली नहर निर्माण में अनियमितता की पोल

नहर

लक्ष्मी नारायण सिंह

बिशुनपुर (गुमला) : गुमला जिला अंतर्गत बिशुनपुर प्रखंड में जल पथ विभाग के द्वारा मुंदार डैम से कोयनार टोली गांव तक 17 किलोमीटर 17 करोड़ रुपए की लागत से नहर निर्माण कराया जा रहा है. नहर निर्माण की जिम्मेदारी श्री साईं कृष्णा नामक कंपनी को दी गई है. नहर का काम कंपनी के पीएम जितेन्द्र मिश्रा की देखरेख में कराया जा रहा है.

मगर कंपनी के द्वारा कराये गये काम में गुणवत्ता पर ध्यान नहीं दिया गया है. गुणवत्ताविहीन काम के कारण नहर हल्की बारिश में ही अम्बाटोली गांव के समीप बह गया. वहीं नहर में कई जगह दरारें भी पड़ गई है. हल्की बारिश ने ही गुणवत्ता की पोल खोलकर रख दी.

नहर

नहर निर्माण कार्य प्रारंभ होने से दर्जनों गांव के ग्रामीणों में काफी उम्मीद थी कि अब उन्हें सिंचाई के लिए आसानी से खेतों को पानी उपलब्ध हो जाएगा, परंतु हल्की बारिश में ही नहर के बहने और टूटने से किसानों में निराशा है. किसानों का कहना है कि जब अभी हल्की बारिश ही नहर को बहा कर ले जा रही है तो बरसात के दिनों में इसका क्या हश्र होगा.

4 इंच की जगह मात्र 2 इंच ढलाई की गई है

कंपनी के पीएम जितेंद्र मिश्रा की मानें तो स्लीप वॉल एवं बेड ढलाई 4 इंच की जा रही है,परंतु हल्की बारिश में ही स्लीप वॉल एवं ढलाई बह गया, जिसमें साफ दिखाई दे रहा है कि 2 इंच से ज्यादा की ढलाई नहीं की गई है.

गुणवत्ताविहीन नहर निर्माण विभागीय जेई की उपस्थिति में कराई जानी थी, परंतु बेमौसम हल्की बारिश ने ही सभी पदाधिकारियों की पोल खोल कर रख दी. इधर लोगों का कहना है कि विभागीय जेई की उपस्थिति में काम होना था, तो इतना गुणवत्ताविहीन कार्य कैसे हुआ. लोगों ने आरोप लगाया है कि विभाग व पदाधिकारियों की मिलीभगत से ही गुणवत्ताविहीन कार्य कराई गई है.

कार्य में अनियमितता को लेकर जनप्रतिनिधियों ने बंद कराया था काम

कंपनी द्वारा गुणवत्ताविहीन कार्य कराए जाने को लेकर ग्रामीणों ने पूर्व में ही जनप्रतिनिधियों से शिकायत की थी. इसमें जिला परिषद सदस्य सावित्री देवी भी सूत्री अध्यक्ष जगत ठाकुर एवं सांसद प्रतिनिधि रवीन्द्र भगत ने कार्य स्थल जाकर कार्य का अवलोकन कर कार्य में अनियमितता को लेकर कार्य रोकने के बाद कंपनी के पीएम से काम की गुणवत्ता में सुधार लाने  की बात कही थी, परंतु कंपनी के लोग जनप्रतिनिधियों की एक ना सुनी और धड़ल्ले से गुणवत्ताविहीन कार्य कराया गया.



Loading...
WhatsApp chat Live Chat