रांची: पिता की दूसरी शादी से नाखुश बेटे ने ली थी 3 जान, अब मिली फांसी की सजा

man sentenced hang till death for triple murder रांची: 12 जुलाई 2014 को रांची के रातू थाना क्षेत्र में हुए ट्रिपल मर्डर केस ने सभी को हैरान कर दिया था. एक ही घर में हुए तीन हत्याओं की गुत्थी 8 साल की बच्ची ने सुलझा दिया था. हत्या किसी और ने नहीं बेटे ने ही की थी. मामले में अब आरोपी को रांची सिविल कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है.

आत्‍महत्‍या की जानकारी लेने कस्तूरबा आवासीय विद्यालय पहुंची जिप अध्‍यक्ष, कहा- दोषियों पर होगी कार्रवाई

जगन्‍नाथ रथ यात्रा की तैयारी पूरी, बीडीओ ने मेला परिसर का किया निरीक्षण

जानकारी के मुताबिक, निलेश अपनी मां की मौत से दुखी था. लेकिन उसके पिता शिवनन्दन साहू ने कुछ दिनों बाद दूसरी शादी कर ली. साथ ही उसकी पढाई छुडवा कर उसे काम पर लगवा दिया. उसकी सौतेली मां भी उसके साथ बुरा बर्ताव करती थी. इन सारी घटनाओं से निलेश गुस्से से उबल रहा था.

स्टूडेंट्स का सहारा लेकर शिक्षक करवा रहे ट्रांसफर का विरोध, डीसी ने 500 शिक्षकों का कर दिया था तबदला




पाकुड़ : दुर्घटना को निमंत्रण दे रहे फ्लाईओवर के तालाबनुमा गड्ढे

हत्या करने वाले दिन निलेश जब खाना खा रहा था, उसके पिता आए और किसी बात पर उसकी पिटाई कर दी. मार खा कर निलेश सो गया. लेकिन जब घर के बाकी सदस्य सो गये तो वो उठा. उसनें घर में रखी टांगी उठाई और अपने पिता, सौतेली मां और अपनी सौतेली बहन को मार डाला.

रांची मां-बेटा हत्याकांड मामला: हत्यारों के लिए अपने हाथों से महिला ने बनाई थी चाय

रांची: रथयात्रा आज, दोपहर 2 बजे रथ पर सवार होंगे भगवान जगन्नाथ

परिवार में सिर्फ 8 साल की बच्ची बची थी. निलेश ने उसे नहीं मारा क्योंकि वो उसके साथ अच्छे से बर्ताव करती थी. बच्ची के बयान पर ही निलेश को अरेस्ट किया गया था. हत्या करने के बाद निलेश भागने के फिराक में था लेकिन पुलिस ने उसे अरेस्ट कर लिया.

सड़क दुर्घटना में दो लोगों की मौत, दो की स्थिति गंभीर

बेहतर इलाज के अभाव में बसंती ने तोड़ा दम, ससुराल वालों ने जलाकर मारने का किया था प्रयास

रांची कोर्ट ने इस मामले को रेयरेस्ट ऑफ़ रेयर माना और निलेश को फांसी की सजा सुनाई है.





WhatsApp chat Live Chat