BREAKING

हंगामे की भेंट चढ़ी ग्राम सभा की बैठक, नहीं हुआ आदिवासी विकास समिति का गठन

sisaiसिसई (गुमला) : सिसई प्रखण्ड के पंचायत बरगांव उत्तरी के राजस्व ग्राम मकुंदा में आदिवासी विकास समिति का गठन होना था, लेकिन कुछ लोगों के विरोध के कारण ग्राम सभा की बैठक नहीं हो पायी.

 

आदिवासी विकास समिति के गठन के लिए प्रखंड से पर्यवेक्षक भी आये थे, और इन्‍हीं के देखरेख में चयन प्रक्रिया भी होनी थी. लेकिन गांव के ही वार्ड सदस्य के पति करमचंद उरांव, वार्ड सदस्य बाना उरांव, बिशे उराँव, बिरसा उराँव, सुलेन्दर लोहरा ने आदिवासी विकास समिति में चयन नहीं होने का विरोध किया.



 

इन लोगों ने शराब पीकर जमकर हंगमा किया, और सरकारी कार्य में बाधा डाला. बाद में पर्यवेक्षक ने चयन प्रक्रिया को रद्द कर दिया. पर्यवेक्षक ने बताया कि ग्राम सभा की कार्यवाही सम्पन्न हो चुकी थी, लेकिन गांव के ही जनप्रतिनिधि वार्ड सदस्य के पति करमचंद उराँव, वार्ड सदस्य बाना उराँव, बिशे उराँव, बिरसा उराँव ने शराब पीकर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाया, जिसके कारण चयन नहीं हुआ.

 

इसे भी पढ़ें : डीएसपी स्‍तर के 16 अधिकारियों का तबादला, दीपक कुमार पांडे बने रांची के सदर डीएसपी

इसे भी पढ़ें : गोड्डा : स्‍वच्‍छता अभियान को लेकर कार्यशाला का आयोजन, ग्राम प्रधानों से सहयोग की अपील

 

मौके पर पर्यवेक्षक महिला प्रसार पदाधिकारी सुषमा तिर्की, प्रभारी कृषि पदाधिकारी शंकर राम, प्रखण्ड समन्यवक, प्रवीण कुमार, पंचायत सेवक परमानन्द बड़ाइक, रोजगार सेवक सुखनाथ भगत, स्वयं सेवक गोविन्द प्रसाद, मुखिया सुनीता कुमारी, पंचायत समिति बिनु उराँव, ग्राम प्रधान मोरहा पाहन सहित कई ग्रामीण उपस्थित थे.



WhatsApp chat Live Chat