NEWS11

बोकारो समेत देशभर के लोगों से लोन के नाम पर लाखों की ठगी, गुजराती ठग गिरोग का एक सदस्य गिरफ्तार

बोकारो : बोकारो सहित देशभर के विभिन्न राज्यों में कई लोगों से ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा बोकारो पुलिस ने किया है. पुलिस ने बोकारो के अशोक कुमार और विवेक सनन नामक दो कारोबारियों से हुई ठगी के बाद मामले की छानबीन में इसका खुलासा करने में सफलता पायी. उक्त ठग गिरोह गुजरात का बताया जा रहा है, जिसके सदस्य महेश प्रसाद उर्फ मसीही प्रकाश को गिरफ्तार किया गया है. गुजरात के ठग गिरोह के सदस्य बैंक डिफॉल्टर कारोबारियों को करोड़ों रुपया का लोन देने के नाम पर उनसे पैसे की ठगी किया करते थे. गिरफ्तार अभियुक्त पर देश के विभिन्न शहरों से लोगों से लगभग 93 लाख रुपये की ठगी करने का खुलासा प्रारंभिक जांच में हुआ है.

चास, बोकारो के दोनों कारोबारी अशोक कुमार एवं विक्रम सनन ने चास पुलिस को लिखित शिकायत कर 16 लाख रूपए की ठगी किए जाने की लिखित शिकायत की थी. पुलिस ने इसी मामले के अनुसंधान करते हुए मामले का उद्भेदन किया. दोनों कारोबारियों के यहां लोन के पूर्व सर्वे करने आए महेश प्रसाद को गिरफ्तार किया गया. गुरुवार को चास के एसडीपीओ बहामन टूटी ने बताया कि गुजरात का यह ठग गिरोह ई-मेल के माध्यम से सीए से संपर्क करता था. उस दौरान वे लोग वैसे कारोबारियों की सूची मांगते थे, जो बैंक से डिफॉल्टर है और जिन्हें लोन की आवश्यकता है. इसके बाद यह गिरोह गुजरात के बड़े व्यवसायी होने की की बात कहकर उनको झांसे में लेते थे और उनसे रकम के मुताबिक एक प्रतिशत राशि अग्रिम के तौर पर बैंक अकाउंट पर जमा करा लेते थे. बोकारो के दोनों व्यवसायियों से 80-80 लाख रुपए लोन देने के नाम पर आठ-आठ लाख रुपए बैंक अकाउंट में उन्होंने ट्रांसफर करवाये. उसके बाद अपने मोबाइल बंद कर दिये. इस घटना के बाद थाने में दर्ज की गई शिकायत के मुताबिक सर्वे करने आए हुए मूल रूप से चाईबासा के रहने वाले महेश प्रसाद को गिरफ्तार किया. वर्तमान में महेश बड़ोदरा, गुजरात में रहा करता था.

एसडीपीओ के अनुसार गिरफ्तारी के बाद यह बात सामने आई कि महेश नवीन पटेल और पार्थ पटेल के साथ मिलकर ठगी का काम करता है. गिरफ्तार ठग ने मामले में अपने को फंसता देख बोकारो के दोनों कारोबारियों को उनसे ली गई रकम में से 12 लाख रुपये लौटा दिए. एसडीपीओ ने बताया कि जांच के क्रम में ठगों के एक बैंक अकाउंट का भी पता चला, जिसमें वे व्यापारियों से पैसा जमा करवाते थे.

बैंक विवरण के अनुसार उक्त ठग गिरोह ने उड़ीसा की रहने वाली अंजला मिश्रा से 13 लाख, पटना के अमरदीप से 19 लाख, दिल्ली के मो. इस्लाम से 16 लाख, हैदराबाद के एसबी डेयरी से 28 लाख एवं योगी नायडू से 6 लाख और सूरत के अंशु डेवलपर से 17 लाख की ठगी की है. एसडीपीओ ने बताया कि इस गिरोह का एक अन्य अभियुक्त आनंद बड़ोदरा, अहमदाबाद में रहकर ठगी का काम करते हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों को भी गिरफ्तार करने को लेकर कार्रवाई में जुट गयी है.

Related posts

ओम प्रकाश माथुर के आगमन के साथ ही बीजेपी में बढ़ी सांगठनिक और राजनीतिक सक्रियता

Rajesh

7 माह से नहीं मिल रहा राशन, लाभुकों ने की बैठक, 2 सितंबर से अनिश्चितकालीन धरना का निर्णय  

Rajesh

101 नगाड़ों के साथ जयंती पर याद किये गये डॉ रामदयाल मुंडा

Pawan

ललीता देवी हत्‍याकांड का खुलासा, भैसूर समेत दो गिरफ्तार

Rajesh

रंगबाज पुलिस वाले, दिनदहाड़े सड़कों पर कर रहे अवैध वसूली, वीडियो वायरल

Rajesh

बीजेपी के चुनाव प्रभारी ओम प्रकाश माथुर पहुंचे रांची, कार्यकर्ताओं ने ढोल-नगाड़े के साथ किया स्वागत

Pawan
WhatsApp chat Live Chat