मांगों को लेकर किसानों ने निकाली पदयात्रा, सीएम के नाम बीडीओ को सौंपा ज्ञापन

पदयात्रा निकालीजामताड़ा : पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत गुरुवार को अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले विभिन्न मांगों को लेकर पदयात्रा निकाली गई. कार्यक्रम की अध्यक्षता किसान सभा के अध्यक्ष बिमल कांत घोष ने किया. वहीं मुख्य अतिथि के तौर पर कार्यक्रम का नेतृत्व एवं देख-रेख सीपीआई के जिला सचिव कन्हाई मालपहाड़िया ने किया. इस क्रम में कार्यकर्ताओं ने कुरूली नदी सियारकेटिया मोड़ के समीप से एक भव्य रैली के रूप में पद यात्रा निकाली. इस क्रम में अजय वराज का पानी अविलंब किसानों के खेत में पहुंचाया जाय, 60 साल के उपर सभी किसानों को पेंशन दिया जाय, सभी किसानों का कृषि लोन माफ किया जाये आदि नारे भी लगाए गए.

इसे भी पढ़ें :एसडीपीओ ने करमाटांड़ थाना का किया औचक निरीक्षण, लंबित कांडों में तेजी लाने का निर्देश

यह पदयात्रा पूरे बाजार का भ्रमण करते हुये सिंचाई विभाग के कार्यपालक अभियंता के कार्यालय के समक्ष जाकर एक सभा में तब्‍दील हो गई. कार्यक्रम के दौरान सीपीआई के जिला सचिव के नेतृत्व में सिंचाई विभाग के कार्यपालक अभियंता निरंजन उरांव को एक मांग पत्र सौंपा गया.

अजय वराज योजना का पानी नहरों में छोड़ने की मांग

इस मांग पत्र के माध्‍यम से अविलंब अजय वराज योजना का पानी नहरों में छोड़कर किसानों के खेत में पानी पहुंचाने की मांग की गई. साथ ही केवलजुड़िया, भूली मागुरा, बांकी एवं गोदापियाल मौजा में सर्वे करते हुए प्रभावित किसानों के खेत में पानी देने की मांग शामिल है.




इसे भी पढ़ें :प्रखंड सभागार में नोडल पदाधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षण, मतदान के प्रति जागरुकता फैलाने का निर्देश

एक सप्‍ताह के अंदर पानी नहीं छोड़ा गया तो भूख हड़ताल

इस क्रम में सीपीआई के जिला सचिव कन्हाई मालपहाड़िया ने कहा कि अगर एक सप्ताह के अन्दर अजय वराज योजना के नहर का पानी नहीं छोड़ा गया तो उसके अगले दिन से ही किसान सभा की ओर से भूख हड़ताल की जाएगी. उन्‍होंने कहा कि किसान प्रकृति की मार तो झेल ही रहे हैं, दूसरी ओर सरकार के इस ढुलमुल नीति के कारण सैकड़ों किसान खेती से वंचित हो जायेंगे. कार्यपालक अभियंता श्री उरांव ने शीघ्र ही किसानों की मांगों पर पहल करने की बात कही.

इसे भी पढ़ें :हटिया पटना एक्सप्रेस ट्रेन में भीषण चोरी, सोये यात्रियों का सामान ले कर उतर गये चोर

सिंचाई विभाग में ज्ञापन सौंपने के बाद पदयात्रा प्रखंड मुख्यालय पहुंची, जहां किसानों को कृषि ऋण माफ करने एवं सभी किसानों को कृषि लोन दिए जाने की मांग को लेकर बीडीओ के माध्यम से मुख्यमंत्री झारखंड सरकार के नाम एक ज्ञापन सौंपा गया.

मौके पर कार्यकर्ताओं ने किसानों की अन्य समस्याएं : जैसे – खाद,  बीज, कीटनाशक दवा, पेंशन, फसल,  बीमा की राशि आदि बिन्दुओं पर बीडीओ के समक्ष चर्चा की. मौके पर मानिक घोष, नारायण चन्द्र पातर, संजय कर, बोम माजी, लालचंद घोष, स्वपन मंडल, कालीपद राय, बलराम राय, अजीत माजी सहित अन्य मौजूद थे.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat