एमजीएम अस्पताल के शवगृह का डीप AC फ्रीजर खराब, परिजन खुद तोड़ रहे हैं बर्फ

MGM Hospital mortuary gets deep AC-freezer bad families breaking iceजमशेदपुर: जिले के एमजीएम अस्पताल की व्यवस्था देख आप हैरान और दंग रह जायेंगे.  क्योंकि यहां हर दिन कोई ना कोई समस्या खड़ी हो ही जाती है. ऐसे में अस्पताल की व्यवस्था पर सवाल उठाए जाते हैं. यहां इस बार मृतक मरीज के परिजनों को परेशानी हो रही है, क्योंकि एमजीएम अस्पताल के शवगृह का डीप एसी करीब ढेर महीने से खराब पड़ा हुआ है, जिसको देखने वाला कोई नहीं है. ऐसे में जीन मरीजों का अस्पताल में डेथ हो रहा है उसे मर्जरी में रखने में मृतक के परिजनों को कठिनाई हो रही है.

इस अस्पताल में मृतक के परिजन डेड बॉडी को रखने के लिए खुद बर्फ की सिल्ली तोड़ते नजर आ रहे हैं. ऐसे में सवाल उठता  है कि इनको बर्फ क्यों तोड़ना पड़ रहा है. इस अस्पताल का मर्जरी वार्ड जहां डेथ बॉडी रखी जाती है, वहां की डीप एसी पिछले डेढ़ महीने से खराब हो गया है. मजबूरन डेथ बॉडी को रखने के लिए मृतक के परिजनों को बर्फ लाकर बॉडी के पास रखना पड़ रहा है कि बॉडी खराब ना हो.




बताया जा रहा है कि  मर्जरी वार्ड के खराब डीप एसी बॉक्स में पहले से ही कई लावारिश लाशें रखी जा चुकी है और बॉक्स में जगह नहीं रहने के कारण मर्जरी वार्ड के बॉक्स के बाहर भी बॉडी रख दिया जा रहा है. ऐसे में शव का बदबू अस्पताल कैम्पस के हर ओर फ़ैल जाता है. जबकि मृतक के परिजनों का मानना है कि एक तो वो अपने परिजनो में एक सदस्य का चले जाने पर गम टेंसन में रहते हैं. दूसरी ओर अस्पताल की इस व्यवस्था से भी परेशानी दुगनी हो जाती है. एमजीएम जैसे बड़े अस्पताल में ऐसा नहीं होना चाहिए था लेकिन अस्पताल में इसे कोई देखने सुनने वाला भी नहीं है.

जब न्यूज़ 11 के संवादाता ने अस्पताल अधीक्षक से इस बारे में पूछा गया तो पहले वो आना-कानी करने लगे बाद में मुंह दबाते हुए उनको बताना पड़ा कि एसी खराब है जो बनने की प्रोसेस में है. कब बनेगी पूछा गया तो उनके मुंह पर एकहि रट थी प्रोसेस में है.  बहरहाल सवाल यह है कि इतने बड़े अस्पताल की व्यवस्था वैसे लोगों के जिम्मे दे दी जाती है जो खुद लाचार होते हैं. ऐसे में सबसे ज्यादा परेशान मरीज और उनके परिजन होते हैं, जो कि नहीं होना चाहिए था.





WhatsApp chat Live Chat