रांची में कमजोर पड़ा मॉनसून, बढ़ जाएगी पानी की किल्लत

monsoon weak in ranchiरांची : झारखण्ड में मॉनसून ने अभी दस्तक ही दी थी कि उसकी स्थिति खराब हो गई. पिछले 24 घंटे में राज्य में मानसून की स्थिति कमजोर रही. हालांकि कई स्थलों पर हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश हुई. शुक्रवार को रांची व आसपास के क्षेत्रों में एक-दो स्थलों पर सिर्फ बूंदाबांदी हुई. आसमान भी दिनभर साफ रहा.




मौसम वैज्ञानिक आरएस शर्मा के अनुसार, फिलहाल मानसून टर्फ जैसलमेर, कोटा, टिकमगढ़, डालटनगंज व बालासोर से होकर गुजर रहा है, जो समुद्रतल से ऊपर 3.1 किमी. क्षेत्र में पूर्व-दक्षिण पूर्व से उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक स्थित है. इसके अलावा छत्तीसगढ़ व आसपास के क्षेत्रों के ऊपर स्थित साइक्लोनिक सकरुलेशन अब मानसून टर्फ के साथ जुड़ गया है. मौसम पूर्वानुमान की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि शनिवार से लेकर 01 जुलाई तक आसमान में बादल छाए रहेंगे और गरज के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है.

शुक्रवार को रांची का न्यूनतम तापमान 22.4 व अधिकतम 28.3 डिगी सेल्सियस रहा. अगर मॉनसून की यही हालत रहेगी, तो रांची सहित पूरे झारखण्ड में किसानों की स्थिति खराब हो जाएगी. खराब मॉनसून का असर ना सिर्फ किसानों पर पड़ेगा, बल्कि जलस्तर पर भी. वैसे ही रांची के लोगों को पीने की पानी की इतनी किल्लत है. अगर बारिश का पानी भी जमीन में इक्कठा नहीं होगा, तो पानी की भीषण समस्या पैदा हो जाएगी.





WhatsApp chat Live Chat