BREAKING

गिरिडीह: इस गांव के ज्यादातर टॉयलेट्स हैं टूटे, बेकार पड़े हैं सारे शौचालय

most toilets of this village are broken गिरिडीह: स्वच्छता में नंबर वन के सरकारी रिपोर्ट के आधार पर गिरिडीह जिले के गांडेय प्रखंड के दासडीह पंचायत के मुखिया हरि मंडल को प्रधानमंत्री के हाथों सम्मानित किया गया था. आश्चर्य की बात तो यह है की जिस स्वच्छता को लेकर प्रधानमंत्री के हाथों मुखिया को सम्मानित किया गया, उनके गांव में शौचालय की हालत दयनीय है.




गांव के अधिकांश शौचालय टूटे हुए हैं. बगैर छड़ दिए ही सेफ्टी टैंक का ढक्कन लगा दिया गया है. इससे अधिकांश शौचालय बेकार पड़ा हुआ है. अब सवाल यह उठता है की जिस मुखिया के खिलाफ अनियमितता व गड़बड़ी की कार्यवाही की जानी चाहिए थी उसे आखिर किस आधार पर प्रधानमंत्री के हाथों सम्मानित करवाया गया.

ग्रामीणों का आरोप है कि खुले में शौच मुक्त पंचायत होने के बावजूद यहां के अधिकांश लोग आज भी खेत बहियार की ओर शौच करने को विवश है. लोगों का कहना है कि पूरे मामले की जांच कराई जाए तो न सिर्फ इस पंचायत की गड़बड़ी बल्कि उन सरकारी बाबुओं की भी कलई खुल जाएगी जिन्होंने स्वच्छता में नंबर वन पंचायत की अनुशंसा की थी.



WhatsApp chat Live Chat