अब प्राइवेट एम्‍बुलेंस वालों की नहीं चलेगी मनमानी, रोटरी क्लब ने दिया जिले को पहला वातानुकूलित शव वाहन

गिरिडीह : गिरिडीह में जिस व्यवस्था की सख्त जरूरत थी, उसे आज रोटरी परिवार ने पूरा कर दिया है. रोटरी क्लब ने जिले में पहला वातानुकूलित शव वाहन की व्यवस्था की है, जिसका लाभ पुलिस परिवार के लोग उठा सकते हैं.

रोटरी क्लब के विजय सिंह ने बताया कि गिरिडीह में 50 से ज्यादा एम्बुलेंस है, पर शव वाहन एक भी नहीं था. आज गिरिडीह में वातानुकूलित शव वाहन रोटरी के माध्यम से उपलब्ध है. प्राइवेट एम्बुलेंस वाले लाचार व बेबस परिजनों से हॉस्पिटल से घर तक शव ले जाने के लिए मनमाना शुल्क लेते थे. अब उनकी मनमानी नहीं चलेगी, एक फोन पर शव वाहन गंतव्य स्थान पर पहुंच जाएगी.




न्‍यूनतम शुल्‍क पर मिलेगी सुविधा

उन्होंने कहा कि शव को अस्पताल से घर ले जाने या जरूरत पड़ने पर शव को श्मशान घाट ले जाने में भी इस वाहन का इस्तेमाल किया जा सकता है. उन्होंने न्यूनतम खर्च पर पीड़ित परिवार को यह सुविधा उपलब्ध कराने की बात कही है. इधर रोटरी की इस व्यवस्था का कई अन्य संगठनों और संस्थाओं ने स्वागत किया है.





WhatsApp chat Live Chat