बैंकों के तर्ज पर अब KYC के दायरे में होंगे झारखंड में राशन कार्ड

रांची : बैंकों के तर्ज पर झारखंड में राशन कार्ड KYC के दायरे में होंगे. जन वितरण प्रणाली को पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिये खाद्य आपूर्ति विभाग ने ये प्रस्ताव तैयार किया है. वहीं राज्य में सुखाड़ जैसे हालात को ध्यान में रखते हुये खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने किसानों को 200 रुपये प्रति क्विंटल बोनस देने की बात कही है. हालांकि इस पर अंतिम फैसला कैबिनेट की बैठक में लिया जाएगा.

बता दें कि बैंकों के तर्ज पर अब झारखंड के राशन कार्डधारियों को KYC के दायरे में लाया जाएगा. खाद्य आपूर्ति विभाग ने इसको लेकर प्रस्ताव तैयार कर लिया है. विभागीय मंत्री सरयू राय ने 5 दिसंबर को इसको लेकर डीएसओ की बैठक आहूत की है. KYC की जरूरत फर्जी राशन कार्डधारियों को चिन्हित करने और भ्रष्टाचार को पूरी तरह से समाप्त करने को लेकर है. अगर ये लागू होता है, तब राशन कार्डधारियों  को साल में एक बार पीडीएस की दुकान पर जा कर KYC  की प्रक्रिया पूरी करनी होगी.




राज्य खाद्य आपूर्ति विभाग ने सूबे के किसानों को 200 रुपये प्रति क्विंटल बोनस देने का प्रस्ताव तैयार किया है. राज्य में सुखाड़ जैसे हालात को ध्यान में रखते हुये ये निर्णय लिया गया है. हालांकि इस पर अंतिम फैसला कैबिनेट की बैठक में होगा. विभागीय मंत्री सरयू राय ने इसकी घोषणा की है. वो लगातार किसानों को बोनस देने को लेकर सरकार से आग्रह कर रहे है.

बात चाहे KYC की करे या किसानों को बोनस देने की. विभागीय स्तर पर तैयार प्रस्ताव के पारित होने का इंतजार रहेगा. इस निर्णय से राशन कार्डधारियों को थोड़ी परेशानी जरूर हो सकती है, जब की किसानों को बोनस मिलने से उनके चेहरे खिल उठेंगे.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat