BREAKING

गरगा नदी को स्‍वच्‍छ बनाने का बीड़ा वर्ल्ड ग्रीन लाइन के साथ मिलकर ONGC ने उठाया

स्वच्छ गरगा अभियानबोकारो : चास शहर के बीच में प्रवाहित हो रही गरगा नदी प्रदूषण की सीमा लांघ चुकी है. जिसमें चास नगर निगम के सभी नालियों तथा लोगों द्वारा कचरा सहित पूजा सामग्रियों को भी डाला जाता है. गरगा को साफ करने के लिये सरकारी स्तर से कोई भी पहल अभी तक नहीं की गयी है. सेक्टर-4 में रह रहे प्रति रंजन ने प्रदूषित गरगा नदी को स्वच्‍छ बनाने का बीड़ा अपने कंधे पर लेते हुए 22 मार्च विश्व जल दिवस के दिन 5 लोग के साथ नदी सफाई का कार्य आरंभ किया था.  जिसको पर्यावरणिक संस्था वर्ल्ड ग्रीन लाइन के बैनर तले  “स्वच्छ गरगा अभियान” नाम दिया गया. अपने 16वें सप्ताह में पहुंचे अभियान को हर सप्ताह के शनिवार व रविवार  को चलाया जा रहा है. नदी से अभीतक भारी मात्रा में प्लास्टिक, प्लास्टर पेरिस की मूर्तियां, पूजा सामग्री, बोतल व जलकुम्भी आदि  निकालने का काम जारी है.




इसे भी पढ़ें :लोहरदगा: ग्रामीणों के पैसे बैंक में जमा करने के नाम पर 8 लाख ले उड़ा BOI का बैंकमित्र

ONGC के स्वच्‍छता पखवाड़ा कार्यक्रम में स्वच्छ गरगा अभियान को शामिल किया गया

इस क्रम में 11 जुलाई को ONGC के स्वच्‍छता पखवाड़ा कार्यक्रम में वर्ल्ड ग्रीन लाइन की स्वच्छ गरगा अभियान को शामिल किया गया. ओएनजीसी के मुख्य अभियंता एवं सीएसआर को-ऑर्डिनेटर राजेश पटवे ने आम जनता से अपील करते हुए कहा कि  नदी को साफ़-सुथरा रखें व नदी को अपनी मां समझें. नदी में गंदगी ना फैलाएं, पूजा सामग्री आदि को नदी में प्रभावित न करें, इससे नदी प्रदूषित हो रही है. अधिकारियों ने ONGC की तरफ से नदी को स्वच्छ बनाने का भरोसा दिलाया.

इसे भी पढ़ें : छिनी गई एनोस एक्का की विधायकी, 43 महीने से जेल में हैं बंद

इसे भी पढ़ें : BREAKING: घाटशिला में नक्सलियों ने पुलिस पर किया अटैक, 1 जवान शहीद



WhatsApp chat Live Chat