विधायक ढुल्लू महतो के गुर्गों से परेशान है ओरियेंटल कंपनी, 29 जून से बंद है काम

धनबाद : कोयलांचल के चर्चित बीजेपी विधायक ढुल्लू महतो एक बार फिर चर्चा में हैं. बीसीसीएल के लोडिंग प्वाइंटों व अपने क्षेत्र की कोलियरियों में वर्चस्व कायम करने वाले विधायक ने इस बार वहां कार्यरत आउटसोर्सिंग कंपनी ओरियंटल को काम छोड़ने को बाध्य कर दिया है. हालांकि दूसरी ओर विधायक ने कंपनी पर ही उन्हें पैसे का लालच देकर काम बंद करवाने का प्रलोभन देने का आरोप लगाया है. विधायक व आउटसोर्सिंग कंपनी के बीच इस तनातनी के कारण एक ओर जहां कोयले का उत्पादन बाधित हो गया है वहीं मजदूरों के समक्ष भी बेकारी की समस्या उत्पन्न हो गयी है.

क्या है मामला

बीसीसीएल के आकाशकिनारी इलाके में आउटसोर्सिंग के तहत कोयला उत्पादन करने वाली दिल्ली की कंपनी ओरियंटल स्ट्रक्चरल इंजीनियर्स के समक्ष इन दिनों काम बंद कर वापस लौटने की स्थिति उत्पन्न हो गयी है. कंपनी बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो के गुर्गों से परेशान है. कंपनी में अपनी मनमर्जी नहीं चलने पर विधायक समर्थकों ने आकाशकिनारी में पिछले 29 जून से काम बाधित कर रखा है, जिसके कारण कंपनी ने अब तक पचास लाख से अधिक नुकसान होने का दावा किया गया है. कंपनी के प्रतिनिधियों ने अपनी परेशानियों से जिला प्रशासन को अवगत भी कराया और शनिवार को एसडीओ की मध्यस्थता में त्रिपक्षीय वार्ता भी हुई. वार्ता में सहमति बनने पर रविवार से काम चालू करने पर सभी एकमत हुए. परंतु बकौल कंपनी प्रबंधन रविवार को काम आरंभ कराने गये कंपनी को फिर से विधायक समर्थकों ने काम स्टार्ट नहीं करने दिया.




विधायक के गुर्गों के कारण कंपनी को और आगे चलाना मुश्किल हो गया है : सरजीत सिंह

रविवार को ही देर शाम कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट सुरजीत सिंह सेट्ठी ने मीडिया से बात करते हुए अब और आगे काम करने में एक तरह से असहमति जतायी. संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य के सीएम एक ओर जहां बाहरी कंपनियों को बुलाकर सूबे में इंडस्ट्री लगाने की अपील कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर बाघमारा के विधायक ढुल्लू महतो की शह पर उनके गुर्गों ने काम बंद करा दिया है. उन्होंने कहा कि उनकी जवाबदेही बीसीसीएल के प्रति है, न कि विधायक के प्रति और जहां तक विधायक का यह आरोप कि मजदूरों को उचित वेतन नहीं मिलता, तो यह सरासर गलत है. हमने वहीं के मजदूरों को नियोजन दे रखा है और उन्हें न्यूनतम मजदूरी से अधिक का भुगतान करते हैं. उन्होंने कहा कि कंपनी को परेशान करने का काम विधायक के इशारे पर उनके गुर्गों द्वारा किया जा रहा है, जिससे कंपनी को और आगे चलाना मुश्किल हो गया है.

सुरजीत सिंह सेट्ठी साजिश के तहत कंपनी को बंद कराने के प्रयास कर रहे हैं : ढुल्लू महतो

वहीं दूसरी ओर सोमवार को कतरास में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए विधायक ढुल्लू महतो ने कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट पर आरोप लगाते हुए कहा कि सुरजीत सिंह सेट्ठी साजिश के तहत कंपनी को यहां बंद कराने के प्रयास में लग गये हैं. जिसके कारण यहां के लगभग 700 मजदूरों के समक्ष बेकारी की समस्या उत्पन्न हो जाती. उन्होंने वाइस प्रेसिडेंट पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके अड़ियल रवैये के कारण कई पेटी कांट्रैक्टर कंपनियों ने काम बीच में ही छोड़ दिया. विधायक ने चुनौती देते हुए कहा कि सेट्ठी यदि गुरुद्वारा में गुरुग्रंथ साहिब पर हाथ रखकर कसम खाकर इस बात से इंकार कर जायें कि वह स्वयं मेरे पास चलकर आये थे और कंपनी को किसी तरह बंद कराने का अनुरोध किया था. इसके एवज में उन्हें पैसे भी ऑफर किये गये थे, जिसे मैंने स्पष्ट इंकार कर दिया था, क्योंकि ऐसा होने पर यहां के लगभग 700 से अधिक मजदूरों के समक्ष बेकारी की समस्या उत्पन्न हो जाती.





WhatsApp chat Live Chat