पाकुड़ : हत्यारोपी दो अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा

पाकुड़ : जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश प्रथम रमेश कुमार श्रीवास्तव की अदालत में सत्रवाद संख्या 129/  16 की सुनवाई करते हुए बोनाली  हांसदा  और बाबूराम किस्कू को भादवि की धारा 302 के तहत आजीवन कारावास और 5000 रूपये अर्थदंड की सजा सुनायी. अर्थदंड की राशि नहीं देने पर 6 महीने का अतिरिक्त सजा अभियुक्त  को भुगतना पड़ेगा.




इसके अलावे डायन प्रतिषेध अधिनियम तीन में एक महीने की सजा और 100  रुपये जुर्माना, डायन प्रतिषेध अधिनियम 4 में 3 महीने की सजा और 200 रुपये जुर्माना की सजा अभियुक्त को अदालत ने  सुनाई. दोनों सजा साथ-साथ चलेगी. उक्त वाद में सरकार के पक्ष की ओर से प्रभारी लोक अभियोजक शिवेंद्र कुमार सिंह और बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता समीर कुमार मिश्रा ने बहस की.  महेशपुर निवासी राजेश मरांडी ने थाना कांड संख्या 42/ 16 के फर्द बयान में कहा है कि दोनों अभियुक्त बोनाली हांसदा और बाबूराम किस्कू ने उनकी मां पामवती हांसदा को अपने भाई के घर बुलाकर हत्या कर दी. दोनों अभियुक्तों को ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया. प्राप्त जानकारी अनुसार बोनाली हांसदा अपने बेटे के इलाज के लिये किसी  भगत के पास पामवती हांसदा के साथ जाती थी. बेटे के ठीक नहीं होने पर बोनाली हांसदा और बाबूराम किस्कू डायन के संदेह में पामवती हांसदा की हत्या कर दी. दोनों अभियुक्त महेशपुर थाना के पथरिया गांव के निवासी हैं.





WhatsApp chat Live Chat