पेयजल संकट के कारण लोगों का जीना मुहाल, बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं लोग

People craving drop-waterसरायकेला-खरसावां : जिले के आदित्यपुर नगर निगम के वार्ड 21 स्थित घनी आबादी वाले बस्ती के लोग विगत 4 माह से बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं. हजारों की आबादी वाले इस बस्ती में विगत 4 महीनों से भीषण पेयजल संकट ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. आलम यह है कि अब आधे से ज्यादा लोगों का दिन सिर्फ पानी की जुगत में बीत जा रहा है. 4 महीने से बस्ती के लोग कभी नगर निगम का तो कभी पेयजल विभाग के चक्कर लगा रहे हैं. इधर इस समस्या से अभिलंब निजात पाने की मांग को लेकर बस्ती के दर्जनों महिला-पुरुषों ने आदित्यपुर नगर निगम के मेयर विनोद श्रीवास्तव से मुलाकात कर पानी की समस्या को दूर करने की मांग की है.

एच, आई और जे रोड में नहीं पहुंच रहा है पानी




बस्तीवासीयों की माने तो ए से लेकर ई रोड तक रोजाना भरपूर मात्रा में पाइपलाइन से जलापूर्ति हो रही है, लेकिन एच, आई औए जे रोड जहां तकरीबन 400 घर हैं. वहां एक बूंद भी पानी पाइप लाइन से नहीं पहुंच रहा, बस्ती वासियों ने साफ शब्दों में बताया कि मुख्य पाइप लाइन में कुछ दबंग लोगों द्वारा कनेक्शन लेकर मोटर से जल दोहन करने और जबरन अवैध कनेक्शन लिए जाने के बाद यह स्थिति उत्पन्न हुई है . जबकि आज से तकरीबन 2 वर्ष पूर्व यहां पानी की कोई समस्या नहीं थी.

खराब है डीप बोरिंग

इधर स्थानीय दुर्गा मंदिर में भी पेयजल विभाग द्वारा विगत 15 साल पूर्व डीप बोरिंग करा कर घर-घर में पाइप लाइन से जल आपूर्ति की जाती थी, वह भी खराब पड़ा है. इससे पूर्व रमजान के महीने में भी लोगों ने पानी की दुहाई को लेकर पेयजल और नगर निगम विभाग के अधिकारियों से मुलाकात की थी लेकिन फिलहाल इनकी समस्या का कोई समाधान नहीं हो सका है.

स्थानीय निवासियों ने नगर निगम के मेयर से बस्ती में डीप बोरिंग करने और पाइपलाइन जल आपूर्ति सेवा को दुरुस्त करने की मांग की है. इधर मेयर विनोद श्रीवास्तव ने सिटी मैनेजर को अवैध कनेक्शन मामले की जांच करने का आदेश दिया है.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat