BREAKING

बगोदर के लोगों को याद रहेगा एसडीपीओ दीपक कुमार शर्मा का कार्यकाल

शेखर सुमन, बिरनी : सरकारी सेवा में स्थानांतर और तबादला एक सतत प्रक्रिया है. लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं कि अपनी सेवा से लोगों के दिलों में छाप छोड़ जाते हैं, जो एक यादगार बन जाता है. ऐसे ही पदाधिकारी हैं गिरिडीह जिला के एसडीपीओ दीपक शर्मा. बगोदर सरिया अनुमंडल के पहले अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के रूप में दीपक कुमार शर्मा ने 8 फरवरी 2016 से लेकर जून 2018 तक सरिया अनुमंडल में अपना योगदान दिया. फिलवक्त उनका स्थानांतरण हो गया है, जिससे इलाके के लोग दुखी हैं.

बताते चलें कि एसडीपीओ अपने कार्यालय में बेहतर पुलिसिंग का उदाहरण देते हुए सरिया अनुमंडल के सरिया, बिरनी व बगोदर प्रखंड के सैकड़ों लोगों के चहेते व आदर्श के रूप में उभरे. खासकर युवा वर्ग में दीपक कुमार शर्मा की कार्यशैली की प्रशंसा और सराहना खूब की गई. यही कारण है कि एसडीपीओ शर्मा के कहने पर सैंकड़ों युवकों ने निशुल्क सेवा देते हुए बिरनी सरिया बगोदर प्रखंड में अपना योगदान दिया. वहीं सरिया प्रखंड में भी सरिया कॉलेज के युवाओं ने इनकी कार्यशैली से प्रेरित होकर पुलिस मित्र के रूप में सावन जैसे महीने में सरिया की बिगड़ी हुई ट्रैफिक व्यवस्था को संभाला.

अपने कार्यकाल के दौरान कई लूट, हत्या जैसे मामलों का भी बड़े आसान तरीकों से निष्पादन किया. क्षेत्र में शांति व्यवस्था बहाल करने में भी इनकी अहम भूमिका रही. बताते चलें कि सरिया अनुमंडल क्षेत्र की बगोदर सरिया एवं बिरनी प्रखंड में कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा दो संप्रदायों के बीच विवाद पैदा करने का भरपूर कोशिश किया, लेकिन अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने अपनी सूझबूझ से ऐसे मामलों का बड़ी आसानी से निपटारा किया और दोनों संप्रदाय के लोगों के बीच में प्रेम व भाईचारे का संदेश दिलाने का काम किया.




ग्राम रक्षा दल का गठन 

एसडीपीओ दीपक कुमार शर्मा ने अपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए युवाओं को प्रेरित करते हुए गांव-गांव ग्राम रक्षा दल का गठन किया था. जिसका फायदा आम अवाम को अभी भी मिल रहा है. ग्राम रक्षा दल के सदस्य एसडीपीओ से प्रेरित होकर निस्वार्थ भाव से अपने क्षेत्रों में काम करते हैं.

नशा मुक्त बगोदर का था सपना 

एसडीपीओ दीपक कुमार शर्मा का सपना था कि बगोदर अनुमंडल को नशा मुक्त बनाया जाएगा. इसके लिए शुरुआत भी उन्होंने कर दिया था. अवैध शराब निर्माण के खिलाफ अभियान तथा नशा मुक्ति अभियान को लेकर महिलाओं को प्रेरित कर इसे रोकथाम करने को लेकर कई जागरूकता रैली निकाली गई. बताते चले कि एसडीपीओ ने समय-समय पर सुदूरवर्ती क्षेत्रों में जाकर गरीबों के बीच कम्बल वितरण, सोलर लालटेन का वितरण उल्लेखनीय रहा.

पांच लाख रूपये से सम्मानित 

एसडीपीओ दीपक कुमार शर्मा को विभाग ने कई बार बेहतर कामों के लिए सम्मानित किया था. सरिया अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के रूप में कुख्यात नक्सली को भी गुप्त सूचना के आधार पर जेपीसी के जोनल कमांडर पुरुषोत्तम गंझू तथा जेपीसी सुप्रीमो नाग दा उर्फ नागेश्वर गंझू को गिरफ्तार किया गया. जिसके लिए सरकार द्वारा इनके टीम को 5 लाख की राशि का पुरुष्कार भी दिया गया था. गिरफ्तार नक्सली के निशानदेही पर सरिया पुलिस द्वारा कई अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया गया. वहीं बिरनी प्रखंड के चिकनिबाद सड़क हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को नकद राशि देकर तथा उक्त हादसे में घायल लोगों को सरिया एसडीपीओ द्वारा समय-समय पर आर्थिक मदद भी पहुंचाया गया.



WhatsApp chat Live Chat