जमशेदपुर: गंदे पानी से जॉनडिस का शिकार हुए लोग, अब एक्टिव हुआ जुस्को

People suffering from jaundice by dirty water supplyजमशेदपुर: जमशेदपुर के धातकीडीह में सीवरेज लाइन का पानी पीने के कारण कई लोग जॉनडिस से ग्रसित मामले की उच्चस्तरीय जांच को देखते हुए जुस्को ने व्यवस्था को दुरुस्त कर स्थानीय 195  लोगों पर कार्रवाई करने की बात कहीं है.

पिछले कुछ दिनों से जुस्को द्वारा धातकीडीह क्षेत्र में गंदे पानी सप्लाई करने की खबर सुर्खियों में थी, जिसके बाद कंपनी एवं जिला प्रशासन के द्वारा कई बिंदुओं पर जांच पड़ताल की गई थी. उस दौरान जांच में जॉनडिस से ग्रसित 1000 से अधिक लोग पाए गए थे, जिसके बाद जुस्को के द्वारा कराए गए सर्वे में उस क्षेत्र से 195 अवैध कनेक्शन पाए गए. इनके द्वारा जबरन सीवरेज लाइन को क्षतिग्रस्त किया गया था, जिसका गंदा पानी कंपनी के सप्लाई लाइन में प्रवेश कर रहा था.




इस पानी को पीने के कारण लोग बड़े पैमाने पर नडिस का शिकार हुए थे. इसे देखते हुए जुस्को के द्वारा संवाददाता सम्मेलन का आयोजन कर वर्तमान परिस्थिति के संबंध में जानकारी दी गई. इस दौरान कंपनी के वरीजॉय अधिकारी कैप्टन धनंजय मिश्रा एवं टाटा मेन हॉस्पिटल केजीएम डॉ राजन चौधरी मौजूद थे. मीडिया से बात करते हुए दोनों ने कहा कि एक माह पहले धातकीडीह  क्षेत्र में भयावह स्थिति देखने को मिली थी. जिसके बाद सर्वे के दौरान 195 अवैध कनेक्शन करने वाले लोगों पर जुर्माना राशि के तहत कार्रवाई की गई है. साथ ही पूरे शहर में सर्वे करा कर अवैध कनेक्शन वाले लोगों पर जुर्माना किया जा रहा है. इसके लिए तीन हफ्ते का समय सभी अवैध कनेक्शन धारियों को दिया गया है. ताकि वो लोग कनेक्शन शुल्क जमा कर जुर्माने से बच सकें.





WhatsApp chat Live Chat