पीएम ने किया आयुष्‍मान भारत योजना का शुभारंभ, पांच लाभुकों को दिया गोल्‍डन कार्ड

रांची : पीएम मोदी ने धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान से आयुष्‍मान भारत योजना का शुभारंभ किया. इस दौरान पीएम ने पांच लाभुकों को गोल्‍डन कार्ड दिया. पीएम मोदी ने भारत को आयुष्मान बनाने और जन-जन को आरोग्य बनाने के लिए दुनिया की सबसे बड़ी और महत्वाकांक्षी योजना का उद्घाटन किया. प्रधानमंत्री ने पांच लोगों मंजू हेम्ब्रम, रुबी परवीन, चंदन कुमार राम, मुकेश कुमार और पूनम देवी को गोल्डेन ई-कार्ड प्रदान किया.

प्रधानमंत्री ने जोहार के साथ लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत की सबसे बड़ी योजना का शुभारंभ झारखंड की पावन धरती से कर रहा हूं. हम उस विशेष अवसर के साक्षी बन रहे हैं, जिसका आंकलन भविष्य में मानवता की बहुत बड़ी सेवा के रूप में होना तय है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज मैं यहां झारखंड में विकास की गति को बढ़ावा देने के लिए नहीं आया हूं बल्कि ऋषियों-मुनियों के सपनों को साकार करने के लिए एकजुट हुए हैं. इस सपने को हमें इसी सदी में पूरा करना है और उसका आज आरंभ हो रहा है. समाज की आखिरी पंक्ति में जो इंसान खड़ा है, गरीब से गरीब लोगों को स्वास्थ्य की बेहतरीन सुविधा मिले, उस सपने को साकार करने लिए बिरसा मुंडा की धरती से यह कदम उठाया है. आज पूरे हिंदुस्तान का ध्यान रांची की धरती पर है.




हमारी सरकार ने चार साल में 8 मेडिकल कॉलेज दिया

मोदी ने कहा कि देश के 400 से अधिक जिलों में यह समारोह चल रहा है. आज यहां मुझे दो मेडिकल कॉलेज प्रारंभ करने का भी अवसर मिला. हमारे मुख्यमंत्री बता रहे थे कि आजादी के 70 साल में तीन मेडिकल कॉलेज मिले और चार साल में 8 मेडिकल कॉलेज हमारी सरकार ने दिया है.

पूरी दुनिया में कहीं नहीं चल रही है यह योजना

पीएम मोदी ने कहा कि पूरी दुनिया में सरकारी पैसे से इतनी बड़ी योजना किसी भी देश में नहीं चल रही है. इस योजना के लाभार्थियों की संख्या के बारे में हम यहां बैठकर कल्पना नहीं कर सकते. पूरा यूरोपियन यूनियन की जितनी आबादी है, उतने लोग भारत में इस योजना का लाभ लेंगे. पूरे अमेरिका की जनसंख्या, कनाडा, मैक्सिको की जनसंख्या को मिला लें, तो उससे भी ज्यादा लोगों को इस योजना का लाभ होने वाला है.

मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को हर कोई अपनी-अपनी कल्पना के अनुसार नाम दे रहा है. कोई इसे मोदीकेयर कह रहा है, तो कोई गरीबों की योजना बता रहा है. इसे लोग अलग-अलग नाम दे रहे हैं, लेकिन मेरे लिए यह दरिद्रनारायण की सेवा करने का एक अवसर है. गरीब की सेवा करने का इससे बड़ा कोई कार्यक्रम नहीं हो सकता. देश के 50 करोड़ से अधिक भाई-बहनों को पांच लाख रुपये तक का हेल्थ इंश्योरेंस देने वाली यह दुनिया की अपनी तरह की सबसे बड़ी योजना है.





WhatsApp chat Live Chat