राजनीतिज्ञों का लालू से मिलने का सिलसिला जारी, सीताराम येचुरी और भुनेश्‍वर मेहता ने जाना हाल

रांची : रिम्स में शनिवार को सियासी दरबार लगता है, रिम्‍स के पेइंग वार्ड में सेहत के बहाने सियासत साधने का अखाड़ा बनता है. लालू दरबार में नेता हाजिरी लगा रहे हैं. सीट शेयरिंग और महागठबंधन के फार्मूले पर बातचीत हो रही है. मिशन 2019 को फतह करने की रणनीति बन रही है.

दरअसल चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव इन दिनों रिम्स के पेइंग वार्ड में इलाजरत हैं. शनिवार को लालू प्रसाद यादव के लिए खास दिन होता है, क्योंकि तीन लोग को लालू प्रसाद से मिलने की इजाजत दी जाती है. इसी कड़ी में आज भाकपा के महासचिव सीताराम येचुरी, हजारीबाग के पूर्व सांसद भुनेश्वर मेहता और बिसफी से आरजेडी के विधायक डॉ. फैयाज अहमद लालू के दरबार में हाजिरी लगाने पहुंचे.

महागठबंधन से देश की राजनीति पर पड़ेगा बड़ा असर : सीताराम येचुरी

लालू से मिलकर निकले सीताराम येचुरी ने कहा कि यूपी में बसपा-सपा के महागठबंधन से देश की राजनीति पर बड़ा असर पड़ेगा. उन्होंने कहा कि बंगाल से तृणमूल कांग्रेस मुक्त और देश से भाजपा मुक्त सरकार बनाने की बातें आरजेडी सुप्रीमो से हुई है. हजारीबाग के पूर्व सांसद भुनेश्वर मेहता ने कहा कि भाकपा की परंपरागत सीट हजारीबाग रही है. लालू प्रसाद यादव को इन्हीं बातों से अवगत कराया है.

विधायक डॉ. फैयाज अहमद ने भी की मुलाकात

वहीं लालू के सियासी दरबार में उनके ही पार्टी के बिसफी के विधायक डॉ. फैयाज अहमद भी पहुंचे. लालू से मिलकर निकलने के बाद फैयाज ने कहा कि केवल उनकी सेहत का हाल चाल जाना है. सियासत की बातें नहीं हुई है. वहीं लालू का इलाज कर रहे डॉ. डीके झा ने कहा कि लालू इन दिनों पेरीअर्थराइटिस नामक बीमारी से जूझ रहे हैं. उनके मकर संक्रांति पर भी अभी सस्पेंस बरकरार है.

राजनीति का अखाड़ा बना  रिम्स का पेइंग वार्ड

जाहिर है आरजेडी सुप्रीमो को बेल नहीं मिलने के बाद राजनीति का अखाड़ा है रिम्स का पेइंग वार्ड बन गया है. राजनीति जगत के कई ऐसे दिग्गज पहलवान लालू के दरबार में हाजिरी लगा रहे हैं, ताकि महागठबंधन का फार्मूला और सीट शेयरिंग पर सब कुछ समय रहते साफ हो जाए.



Loading...
WhatsApp chat Live Chat