कलम के आराध्य देव भगवान चित्रगुप्त की धूमधाम से हुई पूजा

पलामू : पलामू में भी अपने आराध्य भगवान चित्रगुप्त की भक्ति भाव से लोगों ने पूजा की. कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया को भाई दूज त्योहार मनाया जाता है. वहीं आज के ही दिन चित्रगुप्त की पूजा भी होती है. कलम के आराध्य देव भगवान चित्रगुप्त की पूजा का विशेष महत्व है.

नई बहियों पर ‘श्री’ लिखकर काम शुरू किया जाता है. हर साल कार्तिक शुक्ल द्वितीया को सभी कायस्थ परिवार के लोग अपने आराध्य चित्रगुप्त भगवान का पूजन करते हैं. चित्रगुप्त भगवान को अपनी आमदनी और खर्चों का ब्योरा दिया जाता है. घर की महिलाएं गोधन कूटती है. इसके बाद महिलाएं भी इस पूजा में शामिल होती हैं.




ऐसी मान्यता है कि भगवान चित्रगुप्त पाप पुण्य का लेखा-जोखा रखते हैं. भैया दूज के दिन चित्रगुप्त पूजा के साथ लेखनी, दवात और पुस्तकों की पूजा भी की जाती है. आज के दिन कायस्थ परिवार के लोग कलम, दवात की पूजा करने के बाद कलम, दवात नहीं चलाते हैं.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat