लातेहार: समय पर नहीं मिला एंबुलेंस, हॉस्पिटल के दरवाजे पर हुई गर्भवती की मौत

pregnant woman death without ambulance लातेहार: लातेहार सदर अस्पताल की चौखट पर एक गर्भवती महिला ने गर्भस्थ शिशु के साथ दम तोड़ दिया. महिला को अस्पताल तक आने के लिए एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिली थी और अस्पताल पहुंचते ही हालत बिगड़ने के कारण महिला की मौत हो गई. हालांकि महिला की मौत के बाद शव को विभागीय कर्मियों ने एंबुलेंस से उसके घर भिजवाकर अपना पल्ला झाड़ लिया.

एंबुलेंस और प्रसव के मामले में लातेहार जिले की हमेशा किरकिरी होती रही है. दो साल पहले भी आधार कार्ड बनवाने के लिए गांव से 18 किमी पैदल चलकर लातेहार आई महिला बालमुनी देवी का सड़क के किनारे प्रसव हो गया था. इसके बाद लगातार कभी खेत में तो कभी चलती गाड़ी में प्रसव के मामले सामने आते रहे हैं.




इस बार मौत के मुंह में समाई महिला के बारे में कहा जा रहा है कि महिला को हाइ ब्लड प्रेशर एवं खून की कमी थी. महिला का चेकअप करने के दौरान पाया कि 9 माह के गर्भस्थ शिशु और महिला दोनों की मौत हो चुकी है. उसका ब्लड प्रेशर हाई था, पैर फूले हुए थे और खून की भी कमी थी. महिला चिकित्सक के नहीं होने के कारण उसकी प्राथमिक चिकित्सा कर सदर अस्पताल रेफर कर दिया. सीएचसी की सिस्टर ने उसे 108 नंबर पर फोन कर एंबुलेंस से सदर अस्पताल जाने को कहा था. एंबुलेंस नहीं मिली होगी तो उसे ऑटो से ले जाया गया होगा.





WhatsApp chat Live Chat