कृष्‍ण जन्माष्टमी महोत्सव की तैयारियां शुरू, दो सितंबर को मटकी फोड़ प्रतियोगिता

रांची : कृष्‍ण जन्माष्टमी महोत्सव के अवसर पर हर साल की तरह इस बार भी दही हांडी की प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा. इस साल जन्माष्टमी 2 सितंबर को है, जिसको लेकर श्री कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव समिति ने तैयारियां शुरू कर दी है.

समिति अध्यक्ष संजय सेठ ने बताया कि अल्बर्ट एक्का चौक पर गुरुवार को ही दही हांडी लटका दिया जायेगा, जिससे राजधानीवासियों में उत्साह बढ़ेगा. इसके अलावा एक सितंबर को कई तरह के प्रतियोगिताएं और संगीत भजन के कार्यक्रम होंगे. वहीं मटकी फोड़ प्रतियोगिता 2 सितंबर को होगी. प्रतियोगिता में विजेता टीम को पुरस्कार दिया जाएगा.

भाद्रपद माह की कृष्ण पक्ष में भगवान श्रीकृष्ण का हुआ था जन्‍म

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव है. योगेश्वर कृष्ण के भगवद्गीता के उपदेश अनादि काल से जनमानस के लिए जीवन दर्शन प्रस्तुत करते रहे हैं. जन्माष्टमी को भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में बसे भारतीय भी इसे पूरी आस्था व उल्लास से मनाते हैं. श्रीकृष्ण ने अपना अवतार भाद्रपद माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मध्यरात्रि में कंस का विनाश करने के लिए मथुरा में लिया. चूंकि भगवान स्वयं इस दिन पृथ्वी पर अवतरित हुए थे अत: इस दिन को कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है. इसीलिए श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर मथुरा नगरी भक्ति के रंगों से सराबोर हो उठती है.




रात्रि 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण का किया जाता है अभिषेक

भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव का दिन बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है. कृष्ण जन्मभूमि पर देश–विदेश से लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है और पूरे दिन व्रत रखकर नर-नारी तथा बच्चे रात्रि 12 बजे मन्दिरों में अभिषेक होने पर पंचामृत ग्रहण कर व्रत खोलते हैं. कृष्ण जन्मभूमि के अलावा द्वारकाधीश, बिहारीजी एवं अन्य सभी मन्दिरों में इसका भव्य आयोजन होता है, जिनमें भारी भीड़ होती है.





WhatsApp chat Live Chat