NEWS11

प्रिंसिपल व सहयोगी शिक्षकों ने शिक्षिका को पीटा, गर्भ में हो गयी 8 माह के बच्चे की मौत

गुमला : घाघरा थाना क्षेत्र के पुटो स्थित कार्तिक उरांव बाल विकास विद्यालय के शिक्षिका सतमी कुमारी के साथ विद्यालय के ही प्रधानाध्यापिका व अन्य सहायक शिक्षिकाओं के द्वारा हमला कर मारपीट करने के बाद सतमी के पेट में पल रहे 8 माह के बच्चे की मौत का मामला प्रकाश में आया है. इस संबंध में सतमी  ने बताया कि वह तारा गुट्टू गांव की रहने वाली है और पुटो में रहकर उसी विद्यालय में पढ़ाने का काम करती है. विद्यालय में कई विषयों को लेकर दो ग्रुप बन गया है. जिसमें प्रधानाध्यापिका के साथ अन्य और शिक्षिका शामिल हैं. उनके द्वारा लगातार उसके साथ मारपीट की जाती है. 07 जुलाई को भी मारपीट की गयी थी, जिसकी लिखित शिकायत उसने घाघरा थाना में 9 जुलाई को कर दिया था. इस दौरान पुलिस ने कहा था कि पूरे मामले की जांच विद्यालय में जाकर करेंगे. उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.

…पेट में ही हो गयी बच्चे की मौत

सतमी पुलिस का आने का इंतजार करती रही. लेकिन पुलिस 14 जुलाई तक न गांव पहुंची और न ही उसकी कोई सुध ली. इसी दौरान दोबारा प्रधानाध्यापिका और शिक्षिकाओं के द्वारा 15 जुलाई को उसके किराए के मकान में आकर अचानक ही हमला कर दिया गया. हमला करने के दौरान लात व हाथ से कई बार पेट में भी वार किया. जिसके बाद उसके पेट में दर्द शुरू हो गया. तब वह घाघरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंची और महिला चिकित्सक से मिली. डॉक्टर ने उसे अल्ट्रासाउंड करने का सलाह दी. 16 जुलाई को अल्ट्रासाउंड कराने के लिए भेजा गया. अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट जब लेकर डॉक्टर के पास दोबारा घाघरा आई तो रात में ही डॉ मनीषा कुमारी ने बताया कि बच्चे की पेट में ही मौत हो चुकी है.

पुलिस कार्रवाई करती हो जिन्दा होता बच्चा

पीड़ित शिक्षिका सतमी देवी ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने कार्रवाई नहीं की और मामले को दबाने का प्रयास किया. पुलिस अगर कार्रवाई करती तो आज यह घटना नहीं होती. पूरे मामले को लेकर गंभीरता से जांच कर अधिकारियों से कार्रवाई करने का मांग की है. गर्भ में बच्चे की मौत की खबर सुनकर पीड़ित सतमी कुमारी का रो-रोकर बुरा हाल था. वह बार-बार कह रही थी कि बड़ी मुश्किल से 8 माह तक हमने गर्भ में अपने बच्चे को पाला. समय से मदद मिलती तो बच्चे की मौत नहीं होती.

महिला ने नहीं दर्ज कराई की शिकायत : थाना प्रभारी

थाना प्रभारी उपेंद्र महतो ने कहा कि महिला के द्वारा किसी भी तरह का कोई लिखित व मौखिक शिकायत हमारे पास नहीं की गयी थी. अगर शिकायत की गयी होती तो निश्चित रूप से जांच कर कार्रवाई की जाती. महिला के द्वारा लगाया गया आरोप बेबुनियाद है.

Related posts

“जदयू का चुनाव चिन्‍ह फ्रीज किया जाना झामुमो की बड़ी जीत”

Rajesh

कवि सम्मेलन आयोजित कर सुरभी एवं साहित्य गन्धा ने कवियों को किया सम्मानित

Pawan

राजद ने मनाई बीपी मंडल की जयंती, कहा- उनकी ही देन है पिछड़ों को मिलने वाला 27%  आरक्षण

Rajesh

फर्जी ऑडिशन लेने के नाम पर धनबाद बिग बाजार में हंगामा (देखें वीडियो)

Pawan

जदयू का चुनाव चिन्‍ह फ्रीज, झामुमो के खिलाफ जेडीयू ने खोला मोर्चा

Rajesh

धनबाद भारतीय युवा सेवा वाहिनी ने किया पौधरोपण, धनबाद से “ग्रीन धनबाद” होने तक जारी रहेगी मुहीम

Pawan
WhatsApp chat Live Chat