रांची: अरगोड़ा में 10 करोड़ का फ्रॉड, स्कूलों में शौचालय बनाने के नाम पर ठगी

ranchi argora 10 crore fraud caseरांची: राजधानी के अरगोड़ा थाना क्षेत्र में करोड़ो रूपये के ठगी का मामला सामने आया है. सीएसआर के तहत स्कूलों में सरकारी शौचालय बनाने के नाम पर ठगी की घटना को अंजाम दिया गया. आलम यह है कि पीड़ित लोगो ने एक आरोपी को कोर्ट से पकड़कर पुलिस को सौंप दिया है. पूरा मामला 10 करोड़ का है.

सरिया : दो युवकों ने घर घुसकर महिला के साथ की अश्लील हरकत, रोकने पर पति की पिटाई

जानकारी के मुताबिक, अरगोड़ा थाना इलाके में उस समय अफरा तफरी का माहौल हो गया, जब 10 करोड़ रुपए के घोटाले के मामले में पीड़ित लोगों ने आरोपी को पकड़कर थाने ले जाने लगे. मामला जून में शौचालय निर्माण में घोटाला का था, जिसमे पुलिस आरोपी को पहले ही जेल भेज चुकी थी. फिर आरोपी बेल लेकर बाहर था और कोर्ट से यह निर्देश था अगस्त तक इसकी जांच कर रिपोर्ट पेश करें. तब तक उसकी गिरफ्तारी पर भी रोक लगी हुई थी. लेकिन मामले में पीड़ित लोगों ने आरोपी युवक को कोर्ट से उठा कर अरगोड़ा थाना ले आये. हो-हंगामा के बाद पुलिस ने लोगों को समझा-बुझा कर मामला शांत किया.




हजारीबाग: 2 साल में महेश्वरी फैमिली को मिलने थे 1 करोड़ रुपए, फिर सुसाइड क्यों?

वही पीड़ित लोगों का कहना है ये लोग एग्रीमेंट करा करा कर शौचालय बनवा रहे थे. जब शौचालय बन गई तब लाखों रुपए का पेमेंट ना देकर ऑफिस भी बंद कर दिया. तब जाकर पीड़ित लोगों ने थाने में जाकर FIR दर्ज करवाया था. लेकिन ठगी के शिकार हुए इन लोगों ने आरोपी को पकड़ कर थाने को तो सौंप दिया था. इससे कानूनी दांव पेच के ठगी के शिकार लोग मायूस हो गए. पीड़ित लोग कुछ समझ नहीं पाए लेकिन थानेदार द्वारा समझने के बाद पीड़ित लोग मायूस होकर अपने अपने घर लौट गए.

बोकारो: जोगदा जंगल से मिली अधजली लाश, माथे से टपक रहा था ताजा खून

जिस व्यक्ति को ठगी आरोप में पकड़ कर लाया गया था, उसकी बातों को माने तो वो खुद गंडक हाउसिंग प्राइवेट लिमिटेड ठगी का शिकार हुआ है. उसे धोखे से कंपनी के अधिकारी बना दिया गया. पूरे मामले में मुख्य आरोपी रौशन पांडेय है.

पाकुड़ में 3.14 लाख बच्‍चों को चिन्हित कर दिया जायेगा टीका
खनन टास्क फोर्स की समीक्षा बैठक में उपायुक्‍त ने कहा, बालू के अवैध कारोबार पर लगे रोक



Loading...
WhatsApp chat Live Chat