रांची : CBI की बड़ी कार्रवाई- सरावगी बिल्डर्स को लूक आउट नोटिस जारी, पासपोर्ट जब्त

सरावगीरांची : सीबीआई की टीम ने गुरुवार को सरावगी बिल्डर्स के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरावगी बिल्डर्स को लूक आउट नोटिस जारी किया गया है. साथ ही अमित सरावगी और उनके परिवार का पासपोर्ट भी जब्त कर लिया गया है. सीबीआई के अधिकारी सरावगी के ठिकानों से बरामद कागजातों की जांचकर रहे हैं. जानकारी के अनुसार बैंक के अधिकारी भी सीबीआई की रडार पर हैं. बैंक अधिकारियों से भी जल्द ही पूछताछ की जा सकती है.

बुधवार को रांची, रामगढ़ और कोलकाता के ठिकानों पर हुई थी छापेमारी

बता दें कि बुधवार को सीबीआई की टीम ने अमित सरावगी के रांची, रामगढ़ और कोलकाता सहित सात ठिकानों पर छापामारी की थी. छापामारी में सीबीआई टीम को जानकारी मिली कि कांके रोड में रहने वाले दंपति अमित सरावगी और उसकी पत्नी स्वाति सरावगी ने फर्जी कंपनियों के नाम से बैंकों को चूना लगाया है. तीन बैंकों से इस दंपति ने 100 करोड़ रुपए निकाले हैं. इन बैंकों में बैंक ऑफ इंडिया के लालपुर शाखा और मेन रोड शाखा के अलावा इलाहबाद बैंक और एसबीआई शामिल हैं. इन बैंकों से मोटी रकम की निकासी की गई.




लोन लेने के बाद शेल कंपनियों से ये पैसे इस दंपति ने अपने अकाउंट में ट्रांसफर कर लिया था. इस पूरे घोटाले की पोल तब खुली, जब बुधवार को सीबीआई ने रांची और कोलकाता सहित इनके सात ठिकानों पर छापा मारा. इस दंपति के रिश्तेदारों के घर भी छापा मारा गया.

छापे में जो बातें सामने आई, उसनें सभी को हैरान कर दिया. इस दंपति ने कई फर्जी कंपनियां बना रखी थी. लगभग दर्जन भर कंपनियां इन्होंने एक ही पते पर रजिस्टर कर रखे थे. जब उस एड्रेस पर टीम गई, तो वहां कुछ भी नहीं मिला.

दंपति ने 13 हजार सैलरी पर काम कर रहे कर्मचारी के आम से 8 करोड़ का लोन उठाया था. कर्मचारी के नाम लोन लेने के बाद उसने एक कंपनी बनाई और कर्मचारी को ही उसका डायरेक्टर बना दिया. टीम को इस पूरे मामले में बैंक अधिकारियों की मिली भगत का भी शक है.

 





WhatsApp chat Live Chat