सारथी देवी हत्याकांड मामले में पिता-पुत्र को 20 हजार जुर्माने के साथ उम्र कैद की सजा

sarthi devi hatyakandधनबाद : सारथी देवी हत्याकांड में प्रधान जिला एवं सत्र न्यायधीश रंजीत कुमार चौधरी की अदालत ने दोषी करार दिए गए पिता-पुत्र को 20 हजार जुर्माने के साथ उम्र कैद की सजा सुनाई है. इस मामले में एक महिला आरोपी मंजू देवी को न्यायालय साक्ष्य के अभाव में बरी कर चुकी है. जेल में बंद पिता नारायण महतो तथा पुत्र मिथलेश महतो को आज  न्यायालय में हाजिर किया गया था. अदालत द्वारा सुनाए गये फैसले से वादी पक्ष संतुष्ठ है.




घटना 5 फरवरी 2016 की है. पुटकी थाना क्षेत्र के चिरूडीह बस्ती की रहने वाली सारथी देवी अपने परिवार के साथ उक्त घटना के दिन पिपरा तालाब स्नान के लिए गयी थी. वहां नारायण महतो का परिवार भी मौजूद था. किसी बात को लेकर दोनों पक्षो में अनबन होने के बाद सुचना पाकर नारायण महतो अपने पुत्र मिथलेश के साथ लाठी डंडा लेकर तालाब पहुंच गया. उन्होंने सारथी देवी की जमकर पिटाई कर दी. सारथी की मौके पर ही मौत हो गयी. बाद में पुटकी थाने में उक्त आरोपियों के खिलाफ कांड संख्या 16/16 दर्ज किया गया.

गिरिडीह: सुनील अग्रवाल बने वैश्य महासभा के प्रदेश अध्य्क्ष, हुए सम्मानित





Loading...
WhatsApp chat Live Chat