मेरी बेटी को मेरी पत्नी से बचा लीजिए, वो उसे भी गलत धंधे में धकेल देगी… (देखें वीडियो)

गलतधनबाद : कोर्ट परिसर में सोमवार को उस समय लोगों की नजर एक ऐसे व्यक्ति पर ठहर गई, जब वह व्यक्ति अपने दो बेटों के साथ रो-रोकर आम लोगों से मदद की गुहार लगा रहा था. इतना ही नहीं वह अपनी पत्नी पर गलत धंधा करने का आरोप भी लगा रहा था. साथ ही जबरन अपनी बेटी को भगाकर ले आने की बात भी कर रहा था. लोगों के समक्ष महिला के दो बेटों ने भी अपनी मां के गलत धंधे में शामिल होने का आरोप लगाया और अपनी बहन को वापस जाने से जबरन रोकने की बात भी कही. वहीं दूसरी ओर महिला ने पलटवार करते हुए अपने पति पर ही प्रताड़ित करने और स्वार्थ के लिये बच्चों का भविष्य खराब करने का आरोप लगाया. बहरहाल, पति-पत्नी के बीच के झगड़े में तीनों बच्चे परेशान हैं. एक ओर जहां दोनों बेटे अपनी मां पर आरोप लगा रहे हैं, वहीं बेटी इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रही है.

क्या है मामला

बिहार के शेखपुरा से आये शंकर पासवान अपने दो बेटों के साथ धनबाद कोर्ट परिसर में लोगों को समक्ष फूट-फूट कर रोने लगा. वह वहां जमा लोगों से मदद की गुहार लगा रहा था. वह अपनी पत्नी के चंगुल से अपनी बेटी को छुड़ाने के लिए लोगों से अपील कर रहा था. जानकारी के अनुसार शेखपुरा के शंकर पासवान का अपनी सिंदरी निवासी पत्नी सोनी देवी से पिछले दो सालों से आपसी विवाद चल रहा है. इस मामले में पत्नी सोनी देवी द्वारा शंकर के खिलाफ धनबाद कोर्ट में तीन मामले दर्ज कराये गये थे जिसपर सुनवाई चल रही है.




सोमवार को शंकर और उसके दोनों बेटे इस बात की शिकायत लोगों से कर रहे थे कि उसकी पत्नी खुद गलत धंधे में शामिल है और अपने परिजनों के साथ ब्लू फिल्म बनाने का काम करती है. उसके साथ शेखपुरा में दोनों बेटों के साथ बेटी भी रहती थी जिसे मौका देख कर सोनी देवी भगाकर ले आयी है. उसे आशंका है कि वह उसे भी गलत धंधे में उतार देगी और इसी आधार पर उसे ब्लैकमेल कर रही है. उसने जबरन बेटी को रोक रखा है. दोनों बच्चों ने भी अपनी मां पर कुछ इसी तरह का आरोप लगाया.

बेटी खुद प्रताड़ित हो कर मेरे पास आई : सोनी देवी

वहीं दूसरी ओर सोनी देवी ने शंकर पासवान पर दो सालों से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. इस मामले में उसके खिलाफ उसने तीन केस कर रखा है, जिसपर अदालत में सुनवाई चल रही है. सोनी के अनुसार वह पिछले कई सालों से अपने मायके में रह रही है. गलत धंधे में शामिल होने पर प्रतिक्रिया देते हुए सोनी ने कहा कि इस आरोप का प्रमाण कोर्ट भी मांग रही है, लेकिन आज तक वह इसे साबित नहीं कर पाये हैं. जहां तक बेटी को भगाकर लाने की बात है तो वह खुद प्रताड़ित होकर मेरे पास आयी है. अब यदि वह अपने पिता के साथ जाना चाहती है तो वह स्वतंत्र है. सोनी देवी के अधिवक्ता ने भी शंकर पासवान के आरोपों को नकारते हुए मामला दर्ज होने के बाद भी तरह तरह से परेशान करने का आरोप लगाया.

 





WhatsApp chat Live Chat