गैस पाइप लाइन को लेकर एसडीओ ने गेल कंपनी को दिया निर्देश, कहा- जमीन मालिकों के साथ बैठक कर पूरा करें काम

डुमरी (गिरिडीह) : डुमरी एसडीओ ज्ञानप्रकाश मींज ने डुमरी से होकर गुजरने वाली ऊर्जा गंगा परियोजना गैस पाइपलाइन में गेल कंपनी के द्वारा जमीन रैयतों के साथ होने वाली परेशानी को लेकर बैठक किया. इस दौरान एसडीओ ने बताया कि गेल कंपनी के द्वारा पाइप लाइन बिछाने में जमीन रैयतों को मुआवजा के पेमेंट की सूचना नहीं मिल रही थी. जिसके कारण कंपनी को पाइप लाइन बिछाने में परेशानी आ रही थी.

एसडीओ ने गेल कंपनी को निर्देश दिया कि जमीन रैयतों के साथ तालमेल बैठा कर काम को पूरा करें. किसी भी जमीन मालिकों को मुआवजे को लेकर कोई परेशानी ना हो. बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी के साथ डुमरी के जनप्रतिनिधि, गेल कंपनी के लोग मौजूद थे.

मुखिया संघ के अध्यक्ष ने कंपनी पर लगाया आरोप

डुमरी मुखिया संघ के अध्यक्ष फलजीत महतो ने कंपनी पर आरोप लगाया कि कंपनी बिना किसी नोटिस के जमीन पर पाइप लाइन बिछा रही है. इसकी जानकारी रैयतों को नहीं दी गई है और ना ही देय मुआवजा की राशि की जानकारी दी गई है. जिसको लेकर लोगों में आक्रोश है. वहीं मुखिया संघ के अध्यक्ष ने कहा कि जब तक कंपनी रैयतों को सही जानकारी नहीं देगी तब तक डुमरी में पाइप लाइन बिछाने का काम नहीं करने दिया जाएगा.




पूर्वी भारत के लोगों को मिलेगा लाभ

आपको बताते चलें कि इस योजना का लक्ष्य पूर्वी भारत के निवासियों को पीएनजी और वाहनों के लिए CNG गैस उपलब्ध कराना है. जिसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अक्टूबर 2016 में वाराणसी से इसकी नींव रखी थी. जो भारत के 5 राज्यों से होकर गुजरेगी जिसमें उत्तर प्रदेश झारखंड बिहार पश्चिम बंगाल और उड़ीसा शामिल है. इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश के जगदीशपुर से पश्चिम बंगाल के हल्दिया तक गैस पाइप लाइन बिछाने का काम किया जा रहा है.

डुमरी प्रमुख ने मीटिंग को बताया सेटिंग

बैठक की जानकारी डुमरी प्रमुख यशोदा देवी को नहीं मिलने पर प्रमुख ने गेल कंपनी को अधिकारियों के साथ मिलकर खेल करने का आरोप लगाया है, साथ ही मीटिंग को सेटिंग बताया है. इस दौरान बैठक में एसडीओ ज्ञान प्रकाश मींज, प्रखंड विकास पदाधिकारी राहुल देव, अंचल अधिकारी रविन्द्र कुमार पांडे, गेल कंपनी के सिनियर मैनेजर गोपीनाथ बेहरा, कंपनी के कॉन्ट्रैक्टर लक्ष्मी नारायण सहित मुखिया संघ के अध्यक्ष फलजीत महतो, प्रशांत जायसवाल, काजी बरकत अली, जलील अंसारी सहित दर्जनों लोग मौजूद थे.





WhatsApp chat Live Chat