एजी सही तरीके से जांच करते, तो इतना बड़ा घोटाला नहीं होता – लालू


रांची : चारा घोटाला के दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव समेत अन्य आरोपी मंगलवार को सीबीआई की अदालत में विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेश हुए. इस मामले में सीबीआई कि ओर से चल रही बहस समाप्त हो गई. इसके बाद अदालत ने बचाव पक्ष को अपनी बात रखने का मौका दिया. इस दौरान लालू ने कहा “हुजुर, एजी अगर सही तरीके से जांच करते, तो इतना बड़ा घोटाला नहीं होता.”

उन्होंने आगे कहा कि सीबीआई ने किसके परमिशन से दीपेश चांडोक को सरकारी गवाह बनाया. ऐसा लगता है कि सीबीआई ने दीपेश चांडोक से मिली भगत कर उसे गवाह बनाया.

रामेश्वर चौधरी और डॉ. सईद को नोटिस

इस दौरान अदालत ने दो सरकारी गवाहों, दुमका पशुपालन विभाग के तत्कालीन हेड क्लर्क रामेश्वर चौधरी और डॉ. सईद को नोटिस भेजा है.


इन्हें भी देखें

56 हाई स्कूलों समेत 5 इंटर कॉलेजों की मान्यता रद्द