चुनाव आयोग की चेतावनी, लालू के पार्टी का चुनाव चिन्ह खतरे में


पटना : चुनाव आयोग ने राष्ट्रीय जनता दल को नोटिस जारी किया गया है, जिसमें पार्टी पर चुनाव चिन्ह से जुड़े क़ानून के तहत कार्रवाई किये जाने की बात कही गई है. दरअसल आरजेडी ने वित्तीय वर्ष 2014-15 के आयकर रिटर्न की जानकारी आयोग को नहीं दी गई है. इसे लेकर आयोग ने आरजेडी को नोटिस भेजा है और 20 दिन के अंदर जवाब देने को कहा है.

ऐसा ही एक नोटिस मेघालय की राज्य पार्टी  यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी को भी भेजा गया है. दोनों ही पार्टियों को 1968 के चुनाव चिन्ह नियम के तहत पैरा 16A के तहत नोट्स भेजा गया है. इस नियम के तहत पार्टियों के सिंबल जब्त किये जा सकते हैं.

अमेठी प्रशासन ने राहुल गांधी को सड़क उद्घाटन से रोका, बीजेपी ने कहा- स्मृति करेंगी उद्घाटन

गौरतलब है कि हर वर्ष के आयकर रिटर्न की जानकारी उस साल के 31 अक्टूबर तक देनी होती है. ऐसे में अक्टूबर 2015 तक के इनकम टैक्स रिटर्न की जानकारी आरजेडी को दे देनी चाहिए थी, जो की नहीं दी गई है. हालांकि कांग्रेस और बीजेपी जैसी पार्टियां भी आयकर रिटर्न भरने में देरी करती है.

झारखंड में नगर निकाय चुनाव की वोटिंग संपन्न, बासुकीनाथ में 76% तो रांची में मात्र 49% की वोटिंग

चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि अमूमन पार्टीयां 4 से 6 महीने की देरी करती है और आयोग राजनीतिक दलों को अपना पक्ष रखने का मौका देता है. उन्होंने बताया कि 2014-15 के रिटर्न की जानकरी न देने वालों को ही नोटिस भेजा गया है. बाकी पार्टीयों को रिमाइंडर भेजे गए हैं.


ये भी पढ़ें...

कठुआ दुष्कर्म मामला : पीड़िता के परिवार और वकील को सुरक्षा दे राज्य सरकार- SC

इस वर्ष 97 प्रतिशत बारिश होने के आसार - IMD