सरायकेला- दलमा के जंगल में ग्रामीणों ने एक बाघ को मार डाला

सरायकेला से सटे पाश्चिम बंगाल स्थित बाकुड़ा जिला के लालगढ़  बाघघुरा  जंगल में आदिवासियों ने बाघ का शिकार किया, शिकार में एक रॉयल बंगाल  टाइगर के एक शावक को मार डाला। उधर शावक के मौत की सूचना मिलते ही वन विभाग के अधिकारी जंगल पहुंचे और  मृतक शावक को अपने कब्जे में कर अपने साथ ले गए माना जा रहा है कि  14 अप्रैल को आदिवासी समाज द्वारा शेंद्रा पर्व का आयोजन किया जाता है  उसी के दौरान  इस बाघ के शावक की हत्या आदिवासियों द्वारा की गई.

 आपको बता दें कि चंद्रपुर में  जंगली जानवरों के शिकार की प्रथा  है इसमें आदिवासी समुदाय द्वारा पारंपरिक हथियारों से लैस होकर जंगलों में शिकार किया जाता है साल 2017 के जुलाई महीने में दलमा के  जंगल में  मादा बाघिन ने दो शावकों को जन्म दिया था  यह उसी बाघिन का शावक है ऐसा माना जा रहा है भाग द्वारा वैसे  पिछले दिनों  मादा बाघिन लालगढ़ में देखी गई थी.

इन्हें भी दखें.

राम मंदिर निर्माण के लिए उपवास पर तोगड़िया, रेप हत्या पर PM पर भी भड़के
12 साल बाद कहा ले जाया गया सद्दाम हुसैन के शव को