देवघर को मिला तोहफा, केंद्रीय कैबिनट की मिली मंजूरी, देवघर में बनेगा एम्स


नई दिल्ली : पीएम मोदी ने पूर्वी हिस्से को सशक्त बनाने के लिए झारखंड को एम्स का तोहफा दिया है. बुधवार को आर्थिक मामलों की कैबिनट समिति ने कई मामलों को हरी झंडी दी है. सीसीईए ने झारखंड में बैजनाथ धाम के नाम से विख्यात देवघर में एम्स बनाने के फैसले को मंजूरी दे दी है. एम्स के निर्माण के लिए सीसीईए ने एम्स के निर्माण के लिए 1107 करोड़ रूपए की वित्तीय मदद देने का ऐलान किया है.

4G टेलीकॉम में Jio आगे, स्मार्टफोन मार्केट में Xiaomi का कब्जा

देवघर में एम्स के निर्माण से न सिर्फ झारखंड के लोगों को बल्कि पड़ोसी राज्यों को भी लाभ मिलेगा. अभी तक जटिल बिमारियों के इलाज के लिए दिल्ली या फिर देश के किसी और हिस्से का सफ़र तय करना पड़ता है.

कश्मीर विश्वविद्यालय में आतंकियों ने पुलिस से राइफल छिना

देवघर में एम्स के निर्माण से स्थानीय लोगों को विश्व स्तरीय सुविधाएं मिल सकेंगी. केंद्र सरकार के इस फैसले से न सिर्फ आम लोगों को राहत होगी बल्कि नई दिल्ली स्थित एम्स पर भी दबाव घटेगा.

देवघर एम्स से जुड़ी ख़ास बातें-

·         देवघर के देवीपुर ब्लॉक में बनेगा 750 बेड वाला एम्स.

·         1103 करोड़ एम्स निर्माण में होंगे खर्च.

·         45 महीने में पुरा होगा निर्माण का काम.

·         100 सीट वाला मेडिकल कॉलेज भी बनेगा.

·         ट्रामा सेंटर की भी होगी सुविधा.

·         नर्सिंग मेडिकल कॉलेज में हर साल 60 सीटें होंगी.

·         एम्स में 20 स्पेशलिटी सुपर स्पेशलिटी डिपार्टमेंट होंगे.

·         15 ऑपरेशन थियेटर भी नए एम्स में होंगे.

·         30 बेड का एक आयुष विभाग भी होगा. 

बता दें कि झारखंड का देवघर 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है और इसे बाबाधाम या बैद्यनाथधाम के नाम से जाना जाता है. मयूराक्षी नदी के किनारे स्थित देवघर में सावन में जुलाई के महीने में लाखों की संख्या में श्रद्धालू देवघर पहुंचते हैं और शिवलिंग पर गंगाजल चढ़ाते हैं.

ये भी पढ़ें...

फेसबुक ने बंद किये 58.3 करोड़ फेक अकाउंट

पटना: वाहन चालक ने तीसरी कक्षा के छात्र से किया दुष्कर्म